Dekha Ek Khwab To – Silsila lyrics | Silsila – Dekha Ek Khwab To lyrics | Dekha Ek Khwab Lyrics in Hindi, Best Love song Hits of Amitabh

Dekha Ek Khwab Lyrics-

ओ ओ ओ ओ ओ आ आ आ आ
ओ ओ ओ आ आ आ आ आ आ

हं हं हं हं हं हं हं हं हं हं

देखा एक ख्वाब तो ये सिलसिले हुए
दूर तक निगाहों में हैं गुल खिले हुए
देखा एक ख्वाब तो ये सिलसिले हुए
दूर तक निगाहों में हैं गुल खिले हुए

ये गिला है आपकी निगाहों से
फूल भी हो दरमियान तो फासले हुए
देखा एक ख्वाब तो ये सिलसिले हुए (ला ला ला ला)
दूर तक निगाहों में हैं गुल खिले हुए (हम्म हम्म)

मेरी साँसों में बसी खुशबू तेरी
ये तेरे प्यार की है जादूगरी आहा आहा आहा
तेरी आवाज़ है हवाओं में
प्यार का रंग है फिजाओं में
धडकनों में तेरे गीत हैं मिले हुए
क्या कहूँ की शर्म से हैं लब सिले हुए
देखा एक ख्वाब तो ये सिलसिले हुए
फूल भी हो दरमियान तो फासले हुए

मेरा दिल है तेरी पनाहों में
आ छुपा लूँ तुझे मैं बाहों में

तेरी तस्वीर है निगाहों में
दूर तक रौशनी है राहों में
कल अगर ना रौशनी के काफिले हुए
प्यार के हज़ार दीप हैं जले हुए
देखा एक ख्वाब तो ये सिलसिले हुए
दूर तक निगाहों में हैं गुल खिले हुए (आ आ आ आ)

ये गिला है आपकी निगाहों से
फूल भी हो दरमियान तो फासले हुए
देखा एक ख्वाब तो ये सिलसिले हुए (देखा एक ख्वाब तो ये सिलसिले हुए)
दूर तक निगाहों में हैं गुल खिले हुए (दूर तक निगाहों में हैं गुल खिले हुए)
आ आ आ आ आ ओ ओ ओ ओ ओ
आ आ आ आ आ ओ ओ ओ

Dekha Ek Khwab To – Silsila lyrics in English | Silsila – Dekha Ek Khwab To lyrics

Dekha ek khwaab to yeh silsile hue
Door tak nigahon mein hain gul khile hue
Dekha ek khwaab to yeh silsile hue
Door tak nigahon mein hain gul khile hue

Yeh gila hai aapki nigahon se
Phool bhi ho darmiyaan to faasle hue
Dekha ek khwaab to yeh silsile hue
Door tak nigahon mein hain gul khile hue

Meri saanson mein basi khushboo teri
Yeh tere pyaar ki hai jadugari
Teri aawaz hai havaaon mein
Pyar ka rang hai phizaaon
Dhadkanon mein tere geet hain mile hue
Kya kahun ke sharm se hain lub sile hue
Dekha ek khwaab to yeh silsile hue
Phool bhi ho darmiyaan to faasle hue

Mera dil hai teri panaahon
Aa chhupa loon tujhe maein baahon mein
Teri tasveer hai nigaahon mein
Door tak roshni hai raahon mein
Kal agar na roshni ke kaafile hue
Pyar ke hazaar deep hain jale hue
Dekha ek khwaab to yeh silsile hue
Door tak nigahon mein hain gul khile hue
Yeh gila hai aapki nigahon se
Phool bhi ho darmiyaan to faasle hue
Dekha ek khwaab to yeh silsile hue
Door tak nigahon mein hain gul khile hue.

Full info about this song :

Movie/album: Silsila
Singers: Kishore Kumar, Lata Mangeshkar
Song Lyricists: Javed Akhtar
Music Composer: Hariprasad Chaurasia, Shivkumar Sharma
Music Director: Hariprasad Chaurasia, Shivkumar Sharma
Music Label: Saregama
Starring: Amitabh Bachchan, Shashi Kapoor, Jaya Bachchan, Rekha
Release on: 29th July, 1981

One thought on “Dekha Ek Khwab To lyrics – Silsila | Silsila – Dekha Ek Khwab To lyrics

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *