Dil Kehta Hai Lyrics in Hindi

Song Detail

गाना: दिल कहता है
फिल्म: अकेले हम अकेले तुम
गायक: कुमार सानु, अल्का याग्निक
गीतकार: मजरूह सुल्तानपुरी
संगीतकार: अनु मालिक

Dil Kehta Hai Song Lyrics Hindi

दिल कहता है चल उनसे मिल
उठते हैं कदम रुक जाते हैं
दिल हमको कभी समझाता है
हम दिल को कभी समझाते हैंदिल कहता है चल उनसे मिल
उठते हैं कदम रुक जाते हैं
दिल हमको कभी समझाता है
हम दिल को कभी समझाते हैं
हम जब से हैं जुदा, ऐ मेरे हमनशीं
यूँ देखो तो मेरे, दामन में क्या नहीं
दौलत का चाँद है, शोहरत की चांदनी
मगर तुम्हें खो के, लगे है मुझे ऐसा
के तुम नहीं तो, कुछ भी नहीं

तुम क्या जानो अब हम कितना
दिल ही दिल में पछताते हैं

दिल हमको कभी समझाता है
हम दिल को कभी समझाते हैं

वो दिन थे क्या हसीं, दोनों थे साथ में
और बाहें आपकी, थी मेरे हाथ में
तुम ही तुम थे सनम, मेरे दिन रात में
पर इतनी बुलंदी, पे तुम हो मेरी जां
आये ना दामन अब हाथ में

पाना तुमको मुमकिन ही नहीं
सोचे भी तो हम घबराते हैं
दिल हमको कभी समझाता है
हम दिल को कभी समझाते हैं

दिल कहता है चल उनसे मिल
उठते हैं कदम रुक जाते हैं
उठते हैं कदम रुक जाते हैं
उठते हैं कदम रुक जाते हैं

This Post Has One Comment

Leave a Reply