अब कई सोच करे रे मनवा भजन लिरिक्स

अब कई सोच करे रे मनवा,
अब कईं सोच करे,
गुरूदेव कहे जो होय मनवा,
अब कईं सोच करे।।

मारा सतगुरू आगे निमन करू,
मारे सिर पर हाथ धरे,
ओ अशुभ करमा ने दुर भगाने,
भव से पार करे,
गुरूदेव कहे जो होय मनवा,
अब कईं सोच करे।।

मारा सतगुरु दाता चोपडरानी,
सोला काज सरे,
जितना वाला जित गया रे,
मुखर भटक फरे,
गुरूदेव कहे जो होय मनवा,
अब कईं सोच करे।।

ओ काया नगर री अजब कोठडी,
मनवो राज करे,
कहत कबीरा सुन भाई साधो,
गुरूदेव बिना नही रे सरे,
गुरूदेव कहे जो होय मनवा,
अब कईं सोच करे।।

अब कई सोच करे रे मनवा,
अब कईं सोच करे,
गुरूदेव कहे जो होय मनवा,
अब कईं सोच करे।।

Leave a Reply