अरे गोकुल हालो ने गायो चरावो सावरिया

अरे गोकुल हालो ने गायो चरावो,
मुरली री राग सुनावो रे सावरिया,
मुरली री राग सुनावो रे सावरिया,
गोकुल हालो गिरधारी।।

अरे आप रे कारनीये बाग लगाया,
घूमन रे मिस आवो रे सावरिया,
घूमन रे मिस आवो रे बनवारी,
गोकुल हालो गिरधारी।।

अरे आप रे कारनीये भोजन बनाया,
जीमन रे मिस आवो रे सावरिया,
जीमन रे मिस आवो रे गिरधारी,
गोकुल हालो गिरधारी।।

अरे आप रे कारनीये होड चुनाया,
नावन रे मिस आवो रे सावरिया,
नावन रे मिस आवो रे गिरधारी,
गोकुल हालो गिरधारी।।

अरे आप रे कारनीये झूला लगाया,
झूलन रे मिस आवो रे सावरिया,
झूलन रे मिस आवो रे सावरिया,
गोकुल हालो गिरधारी।।

अरे चन्द्रसखी री अरज विनती,
बेडो पार लगावो रे सावरिया,
बेडो पार लगावो रे सावरिया,
गोकुल हालो गिरधारी।।

अरे गोकुल हालो ने गायो चरावो,
मुरली री राग सुनावो रे सावरिया,
मुरली री राग सुनावो रे सावरिया,
गोकुल हालो गिरधारी।।

राजस्थानी भजन अरे गोकुल हालो ने गायो चरावो सावरिया

Leave a Reply