आना गणपति देवा हमारे घर कीर्तन में भजन लिरिक्स

आना गणपति देवा,
हमारे घर कीर्तन में,
मंग कारज हो जब,
हमारे घर आँगन में,
दर्न दिखाना तुम,
हमको ऐ देवा,
आना होके सवार,
मूषक वाले वाहन में,
आना गणपतिं देवा,
हमारे घर कीर्तन में

श्रद्धा से हम तेरा पूजन करेंगे,
श्रद्धा से हम तेरा पूजन करेंगे,
मोदक लड्डू का थाल,
हम देंगे तुम्हे भोजन में,
आना गणपतिं देवा,
हमारे घर कीर्तन में,
आना गणपतिं देवा।।

रूप अनुपम तुम्हारा गजानन,
रूप अनुपम तुम्हारा गजानन,
ज्यूँ ना भलाई समाय,
हम भक्तो के नैनन में,
आना गणपतिं देवा,
हमारे घर कीर्तन में,
आना गणपतिं देवा।।

भक्तो के मन की यही कामना है,
भक्तो के मन की यही कामना है,
बीते हमारा ये जीवन,
गणेशा तेरे चरणन में,
आना गणपतिं देवा,
हमारे घर कीर्तन में,
आना गणपतिं देवा।।

बस इतनी किरपा तुम करना गजानन,
बस इतनी किरपा तुम करना गजानन,
खुशियाँ ही खुशियाँ ले आना,
देवा हमारे जीवन में,
आना गणपतिं देवा,
हमारे घर कीर्तन में,
आना गणपतिं देवा।।

रिद्धि सिद्धि को भी तुम साथ लाना,
रिद्धि सिद्धि को भी तुम साथ लाना,
उनका भी दर्शन दिखाना,
हमारे घर कीर्तन में,
आना गणपतिं देवा,
हमारे घर कीर्तन में,
आना गणपतिं देवा।।

लक्ष्मी जी को भी तुम संग में ले आना,
लक्ष्मी जी को भी तुम संग में ले आना,
धन वर्षा तुम कराना,
हमारे घर कीर्तन में,
आना गणपतिं देवा,
हमारे घर कीर्तन में,
आना गणपतिं देवा।।

आना गणपति देवा,
हमारे घर कीर्तन में,
मंगल कारज हो जब,
हमारे घर आँगन में,
दर्शन दिखाना तुम,
हमको ऐ देवा,
आना होके सवार,
मूषक वाले वाहन में,
आना गणपतिं देवा,
हमारे घर कीर्तन में।।

गणेश भजन आना गणपति देवा हमारे घर कीर्तन में भजन लिरिक्स

Leave a Reply