ऐ मेरे प्यारे वतन, ऐ मेरे बिछड़े चमन तुझपे दिल कुर्बान देशभक्ति गीत लिरिक्स Deshbhakti Geet Lyrics

ऐ मेरे प्यारे वतन, ऐ मेरे बिछड़े चमन तुझपे दिल कुर्बान देशभक्ति गीत लिरिक्स | 15 August Deshbhakti Geet | 26 January Deshbhakti Geet | Deshbhakti Geet E Mere Pyare Vatan Deshbhakti Geet Lyrics

ऐ मेरे प्यारे वतन, ऐ मेरे बिछड़े चमन
तुझपे दिल कुर्बान
तू ही मेरी आरजू, तू ही मेरी आबरू
तू ही मेरी जान

तेरे दामन से जो आए उन हवाओं को सलाम
चूम लूँ मैं उस जुबाँ को जिसपे आए तेरा नाम
सबसे प्यारी सुबह तेरी, सबसे रंगीं तेरी शाम
तुझपे दिल कुर्बान…

माँ का दिल बन के कभी सीने से लग जाता है तू
और कभी नन्हीं सी बेटी बन के याद आता है तू
जितना याद आता है मुझको उतना तड़पाता है तू
तुझपे दिल कुर्बान…

छोड कर तेरी ज़मीं को दूर आ पहुंचे हैं हम
फिर भी है ये ही तमन्ना तेरे ज़रों की क़सम
हम जहाँ पैदा हुए उस जगह ही निकले दम
तुझपे दिल कुर्बान…

ऐ मेरे प्यारे वतन, ऐ मेरे बिछड़े चमन
तुझपे दिल कुर्बान
तू ही मेरी आरजू, तू ही मेरी आबरू
तू ही मेरी जान

This Post Has One Comment

Leave a Reply