कमर कसी तलवार धारवी भजन लिरिक्स

कमर कसी तलवार धाड़वी ,
कमर कसी तलवार रे ।
कोई सोवन कटारो ,
हाथ में जैसल के रे ।।

आयो विकट तूफान गाँव में ,
आयो विकट तूफान रे ।
पणिहारिया घड़ला ,
फोड़िया पिणघट पे रे ॥

सब सु मिठो बोल जगत में ,
सब सु मिठो बोल रे।
दुनिया में थोड़ो ,
जीवणो पंछीडा रे।

सामी मिळ गई सांढ भूरड़ी ,
सामी मिळगी सांढ रे ।
जिण ऊपर बैठो ,
बाणियो लूटूं ला रे ॥

धन दौलत ले जाय धाड़वी ,
धन दौलत ले जाय रे ।
दुनियाँ में जिन्दो ,
छोड़ दे धाड़ेचा रे ॥

लेवा मिनख ने मार बाणिया ,
लेवा मिनख ने मार रे ।
मैं जैसल कहिजे ,
धाड़वी मान्योडो रे ।।

करवा लागो दान बाणिया ,
करवा लागो दान रे ।
काँहि साधु स्वामी ,
जाणिया म्हाने तूं रे ।।

बूढा माँयर बाप धाड़वी ,
बूढा मायर बाप रे ।
म्हारे नैना – नैना ,
बाळका नगरी में रे ॥

करवा लागो याद बाणियो ,
करवा लागो याद रे ।
दुर्बल रो हेलो सांभळो ,
अन्न दाता रे ॥

काना पड़ी आवाज भगत री ,
काना पड़ी आवाज रे ।
चौपड़ ने आगी मेल दी ,
बाबा जी रे ।।

होय लीले असवार बाब जी ,
होय लीले असवार रे ।
बाण्यां री वारां चढ गया ,
बाबा जी रे ॥

पाछो मुड़ने देख धाड़वी ,
पाछो मुड़ने देख रे ।
आ हीरां भरियोड़ी ,
बाळदड़ी लूटे नी रे ॥

दीवी कळा बरताय बापजी ,
दीवी कळा बरताय रे ।
जैसल ने आंधो करदियो ,
बाबा जी रे ॥

लेले तीन तलाक धाड़वी ,
लेले तीन तलाक रे ।
नहीं साधु स्वामी ,
लूट सू दुनियाँ में रे ॥

आया भगत री बेल बाबजी ,
आया भगत री बेल रे ।
दुर्बल रो हेलो सांभळ्यो ,
अन दाता रे ।

prakash mali bhajan Video

कमर कसी तलवार धारवी kamar kasi talwar dhadvi, jesal dhadvi ki katha, jesal dhadvi katha, prakash mali bhajan
भजन :- कमर कसी तलवार धाड़वी
गायक :- प्रकाश माली

Leave a Reply