कलयुग बैठा मार कुंडली जाँऊ तो में कहा जाँऊ भजन लिरिक्स | Kaliyug Bhajan Lyrics

कलयुग बैठा मार कुंडली जाँऊ तो में कहा जाँऊ भजन लिरिक्स | Kaliyug Baitha Maar Kundali Jau Toh Me Kaha Jau Bhajan Lyrics

कलयुग बैठा मार कुंडली जाँऊ तो में कहा जाँऊ ।
अब हर घर मे रावण बैठा इतने राम कहा से लाऊँ ।

दशरथ कौशल्या जैसे मातपिता अब भी मिल जाये,
पर राम से पुत्र मिले ना जो आज्ञा ले वन जाये।
भरत लखन से भाई को अब ढूंढ कहा से में लाऊँ।
अब हर घर मे रावण बैठा इतने राम कहा से लाऊँ ।

कलयुग बैठा मार कुंडली जाँऊ तो में कहा जाँऊ ।
अब हर घर मे रावण बैठा इतने राम कहा से लाऊँ ।

जिसे समझते हो तुम अपना जड़े खोदता आज वहीं ।
रामायण की बाते जैसे लगती है सपना कोई।
तब थी दासी एक मंथरा आज वही घर घर पाऊँ
अब हर घर मे रावण बैठा इतने राम कहा से लाऊँ ।

कलयुग बैठा मार कुंडली जाँऊ तो में कहा जाँऊ ।
अब हर घर मे रावण बैठा इतने राम कहा से लाऊँ ।

Shri Ram Bhajan | Lord Rama Bhajan | Ram Bhajan Ki Lyrics | Seetaram Bhajan | Bhajan Lyrics of  Lord Rama Youtube Video

kalyug baitha mar kundali, Jau To Me Kaha Jau, Ab Har Ghar Me Ravan Baitha Itne Ram Kaha Se Lau Bhajan LyricsRam Bhajan | Ramji Ke Bhajan Lyrics | Lyrics of Ram Bhajan |

Leave a Reply