काया सुनी सुनी लागे मारा गुरुजी बिना भजन लिरिक्स

। दोहा ।।
राम किसी को मारे नहीं , नहीं है पापी राम।
अपने आप मर जावसी , कर कर खोटा काम।

काया सुनी सुनी ागे,
मारा गुरु जी बिना।
गुरुजी बिना सतगुरुजी बिना।
काया सुनी सुनी लागे,
मारा गुरु जी बिना।

मन्दिर महल भवन सब सुना,
दीपक ज्योत बिना।
ज्ञान बिना यो ह्रदय सुनो,
धरती इन्द्र बिना।
काया सुनी सुनी लागे,
मारा गुरु जी बिना।

माल खजाना दोलत सुना,
ये सब धर्म बिना।
पुत्र बिना परिवार हैं सुना ,
नारी पुरुष बिना।
काया सुनी सुनी लागे,
मारा गुरु जी बिना।

मोटर गाड़ी इंजन सुना ,
ये सब तेल बिना।
वेद बिना ब्रामण हे सुना ,
हाथी दांत बिना।
काया सुनी सुनी लागे,
मारा गुरु जी बिना।

हंस बिना सागर सुना ,
भक्ति भाव बिना।
कस्ती तो केवट बिन सुनी ,
केवटी राम बिना।
काया सुनी सुनी लागे,
मारा गुरु जी बिना।

माया तो मनका बिन सुनी,
घोडा जिव बिना।
हरी भजन कर ले हजारी ,
लालच लोभ बिना।
काया सुनी सुनी लागे,
मारा गुरु जी बिना।

काया सुनी सुनी लागे,
मारा गुरु जी बिना।
गुरुजी बिना सतगुरुजी बिना।
काया सुनी सुनी लागे,
मारा गुरु जी बिना।

कमले राव भजन video

काया सुनी सुनी लागे मारा गुरुजी बिना, kaya suni suni lage guruji bina guru ji ke bhajan lyrics
काया सुनी सुनी लागे मारा गुरुजी बिना bhajan hindi lyrics
भजन :- काया सुनी सुनी लागे गुरुजी बिना
गायक :- कमलेश राव

Leave a Reply