कृष्ण बाल लीला दर्शायी रे देव नारायण कथा दूसरा भाग

देव देवास के माई रे,
माधव मन मोवना,
कृष्ण बाल लीला दर्शायी रे,
ओ हो देव देवास के माई रे,
माधव मन मोवना,
कृष्ण बाल लीला दर्शाई रे,
जय हो जय हो देवा जय हो।।

रंग रंग भोज सवाई की भक्ति,
धन्य धन्य साडू सतवंती,
रंग रंग भोज सवाई की भक्ति,
धन्य धन्य साडू सतवंती,
जो नि प्रकटतो लाल तिहारे,
जो नि प्रकटतो लाल तिहारे,
धर्म दूरी सु निकल जाती धरती,
प्रभु पृथ्वी को पाप मिटायी रे,
कृष्ण बाल लीला दर्शाई रे,
ओ हो देव देवास के माई रे।।

मामाजी मन मे मोद पुरावे,
हरख हरख मामीया हर्षावे,
मामाजी मन मे मोद पुरावे,
हरख हरख मामीया हर्षावे,
गोकुल की प्रेम प्यासी गुजरीया,
गोकुल की प्रेम प्यासी गुजरीया,
दूजो जन्म देवास मे पावे,
कर प्रीत की पूरी भरपाई रे,
कृष्ण बाल लीला दर्शाई रे,
ओ देव देवास के माई रे।।

रूच रूच जिमे छाछ राबडी,
खाट खिचडो देवजी खावे,
रूच रूच जिमे छाछ राबडी,
खाट खिचडो देवजी खावे,
माखन मिसरी खातीर मामीया,
माखन मिसरी खातीर मामीया,
देव धणी रे नाच नचावे,
भई गोकुल मालवा माई रे,
कृष्ण बाल लीला दर्शाई रे,
ओ देव देवास के माई रे।।

वन वन घूमे चरावे है गैया,
बंशी बजावे पीपल की छैया,
वन वन घूमे चरावे है गैया,
बंशी बजावे पीपल की छैया,
गुबडिया मामा को एवड,
गुबडिया मामा को एवड,
निगल गई पल में जोगनिया,
खायो एवड देव उगलायी रे,
कृष्ण बाल लीला दर्शाई रे,
ओ देव देवास के माई रे।।

काया भयी किशोर उदल की,
लीले घोड़े चढ देवजी आवे,
काया भयी किशोर उदल की,
लीले घोड़े चढ देवजी आवे,
मारवाड़ गुजरात मालवो,
मारवाड़ गुजरात मालवो,
देव प्रभु का परचा जी पावे,
सारे जग में छाई सकलायी,
कृष्ण बाल लीला दर्शायी रे,
ओ देव देवास के माई रे।।

देव देवास के माई रे,
माधव मन मोवना,
कृष्ण बाल लीला दर्शायी रे,
ओ हो देव देवास के माई रे,
माधव मन मोवना,
कृष्ण बाल लीला दर्शाई रे,
जय हो जय हो देवा जय हो।।

राजस्थानी भजन कृष्ण बाल लीला दर्शायी रे देव नारायण कथा दूसरा भाग

Leave a Reply