कैलाश के निवासी नमो बार बार हूँ भजन लिरिक्स Bhajan Lyrics

कैलाश के निवासी नमो बार बार हूँ भजन लिरिक्स| Kelash Ke Nivasi Namo Baar Hu Bhajan Lyrics

कैलाश के निवासी नमो बार बार हूँ,
आये शरण तिहारी प्रभ तार तार तू।।

भक्तो को कभी शिव ने निराश ना किया|
माँगा जिसे चाहा वही वरदान दे दिया|
बड़ा हैं तेरा दायरा, बड़ा दातार तू||
आये शरण……

बखान क्या करू मै राखो की ढेर का|
लिपटी विभूति में हैं खजाना कुबेर का||
है गंगाधार, मुक्तिधार, ओंकार तू||
आयो शरण……..

क्या क्या नहीं दिया है ये हम प्रमाण है|
तेरी कृपा के आसरे सारा जहान है||
ज़हर पिया, जीवन दिया, कितना उदार तू||
आयो शरण……..

तेरी कृपा बिना न हीले एक भी अणु|
लेते हैं स्वास तेरी दया से तनु तनु||
करे दे ठाट, एक बार, मुझको निहार तू,
आयो शरण……..

कैलाश के निवासी नमों बार बार हूँ,
आये शरण तिहारी प्रभ तार तार तू।।

Prembhushan Ji Maharaj Bhajan Lyrics, Shiv bhajan lyrics,Bhole Baba Bhajan Lyrics,Kelash Ke Nivasi Namo Baar Baar Hu Youtube Video

Prembhushan Ji Maharaj Bhajan Lyrics, Shiv bhajan lyrics,Bhole Baba Bhajan Lyrics,Kelash Ke Nivasi Namo Baar Baar Hu

This Post Has 2 Comments

Leave a Reply