कोई परिवार ना टूटे बहन का प्यार ना रूठे हिंदी लिरिक्स

फिल्मी तर्ज भजन कोई परिवार ना टूटे बहन का प्यार ना रूठे हिंदी लिरिक्स
गायक – अनिल देवड़ा जी।
तर्ज – स्वर्ग से सुन्दर सपनों से प्यारा।

कोई परिवार ना टूटे,
बहन का प्यार ना रूठे।

स्वर्ग से सुन्दर सपनों से प्यारा,
होता है परिवार,
स्वर्ग से सुन्दर सपनो से प्यारा,
होता है परिवार,
ज्यु सोने मे सुहागा जैसे,
भाई बहन का प्यार,
कोई परिवार न टूटे,
बहन का प्यार ना रूठे,
कोई परिवार न टूटे,
बहन का प्यार न रूठे।।

एक डाली पर दो गुल फूटे,
माली करे रखवाली,
एक डाली पर दो गुल फूटे,
माली करे रखवाली,
चमन में फैले खुशबू उनकी,
बाग़ की छटा निराली,
मात पिता की छाव में पलता,
मात पिता की छाव में पलता,
भाई बहन का प्यार,
कोई परिवार न टूटे,
बहन का प्यार न रूठे।।

कभी झगडते कभी यूँ लडते,
फिर संग मे हो जाते,
कभी झगडते कभी यूँ लडते,
फिर संग मे हो जाते,
कभी रूठते कभी मनाते,
कभी कभी इठलाते,
राखी बांध अपने भैया पर,
राखी बांध अपने भैया पर,
बहन लुटाती प्यार,
कोई परिवार न टूटे,
बहन का प्यार न रूठे।।

जिस घर मे वो फलती फूलती,
घर को स्वर्ग बनाती,
जिस घर में वो फलती फूलती,
घर को स्वर्ग बनाती,
एक दिन उस बगीया को छोड़ के,
पंछी ज्यु उड जाती,
ए ‘नवीन’ बहनीया होती,
ए ‘नवीन’ बहनीया होती।
भाई का आधार,
कोई परिवार न टूटे,
बहन का प्यार न रूठे।।

स्वर्ग से सुन्दर सपनों से प्यारा,
होता है परिवार,
स्वर्ग से सुन्दर सपनो से प्यारा,
होता है परिवार,
ज्यु सोने मे सुहागा जैसे,
भाई बहन का प्यार,
कोई परिवार ना टूटे,
बहन का प्यार ना रूठे,
कोई परिवार न टूटे,
बहन का प्यार न रूठे।।

Leave a Reply