गणपति गणेश को उमापति महेश को भजन लिरिक्स

।। दोहा ।।
विघ्न हरण मंगलकरण ,होत बुद्धि प्रकाश।
नाम लेत गणराज का , होत दुष्ट का नाश।

गणपति गणेश को ,
उमापति महेश को।
मेरा परणाम है ,
मेरा परणाम है।

गणपति जिनका नाम है ,
रणत भवन में धाम है।
ऐसे रिद्धि सिद्धि को ,
बार बार परणाम है।
गणपति गणेश को ,
उमापति महेश को। टेर।

राम जिनका नाम है ,
अवधपुरी में धाम है।
ऐसे धनुषधारी को ,
बार बार परणाम है।
गणपति गणेश को ,
उमापति महेश को। टेर।

कृष्ण जिनका नाम है ,
गोकुल उनका धाम है।
ऐसे बंशी वाले को ,
बार बार परणाम है।
गणपति गणेश को ,
उमापति महेश को। टेर।

विष्णु जिनका नाम है ,
वैकुण्ठ उनका धाम है।
ऐसे चक्रधारी को ,
बार बार परणाम है।
गणपति गणेश को ,
उमापति महेश को। टेर।

सतगुरु जिनका नाम है ,
अमरापुर में धाम है।
ऐसे ज्ञानी गुरु को ,
बार बार परणाम है।
गणपति गणेश को ,
उमापति महेश को। टेर।

tilak varma ke bhajan Music video Song

गणपति गणेश को उमापति महेश को ganpati ganesh ko umapati mahesh ko ganpati vandana hindi lyrics
गणपति वंदना हिंदी लिरिक्स
भजन :- गणपति गणेश को
गायक :- तिलक वर्मा

This Post Has One Comment

Leave a Reply