गुरासा माने ओलु आपरी आवे भजन लिरिक्स

।। दोहा ।।
सबदा मारया मर गया , सबदा छोड्यो राज।
जिण जिण सबद विचारिया ,वा रा सरिया काज।

लागी लगन मारे पीयू मिलण री ,
कोमण काग उड़ावे।
कुटुंब कबीलो मने दाये नहीं आवे,
आप मिलिया दुःख जावे।
गुरूसा माने ! ओलु आपरी आवे।

दिन नहीं चैन रात नहीं निद्रा ,
दोनों कुबदिया जावे।
गुरूसा माने ! ओलु आपरी आवे।

गुरूजी बिना माने घडी नी आवे ,
नेनो में नीर नी समावे।
जल बिन मछिया किसविध जीवे ,
तड़प तड़प मर जावे।
गुरूसा माने ! ओलु आपरी आवे।

गुरूजी बिना मारी काया कलमीजे ,
अन्न पानी नहीं भावे।
गल गया हाड मॉस और चमड़ी ,
प्राण पिंजरिया सु जावे।
गुरूसा माने ! ओलु आपरी आवे।

आठो पोहर गुरु री लिव लागी ,
और कुछ नहीं सुहावे।
लगी आग कालजा में धुनि ,
केहनी केना में नहीं आवे।
गुरूसा माने ! ओलु आपरी आवे।

अब मेरे नाथ दया करो पूरी ,
क्यों मारी सान गवावे।
कहे जोरदास पुउ बिना पल नहीं ,
किस विध प्राण बचावे।
गुरूसा माने ! ओलु आपरी आवे।

suresh lohar ke bhajan Music video Song

गुरासा माने ओलु आपरी आवे भजन, Guru Ji Mhara Olu Aapri Aave satguru ke bhajan in hindi lyrics
गुरुदेव भजन लिरिक्स इन हिंदी
भजन :- गुरूसा माने ! ओलु आपरी आवे
गायक :- सुरेश लोहार

Leave a Reply