गुरु सरिका देव हमारे मन भावे लिरिक्स

~ गुरु सरिका देव हमारे मन भावे ~

गुरु सरिका देव हमारे मन भावे,
सदा मन भावे
गुरु काटे करम की जान,
जीव सुख पावे | २
गुरु काटे भरम की जान ,
जीव सुख पावे ,
गुरु सरिका देव…….

अरे वा गुरासा जी,
सेन समझ कर धावे | २
भाई कुन संत सजान ,
जीव डु जावे ,
अरे हुनर चतुर सुजान
मन डुल जावे ,
अरे वा गुरासा जी ,
देव समझ कर लावे ,
भाई कुन संत सुजान मन को डुलावे ,
गुरु सरिका देव…….

ऐ इंगला पिंगला ,
नारी सुधम को लावे | २
भाई अरद पुरद रा बीच,
माने ठहरावे
गुरु सरिका देव…….

अरे एक खंडित नाथ ,
चरा चर धावे ,
भाई सकल भ्रम के माये ,
रेद यु जावे | २
गुरु सरिका देव…….

अरे बोल्या ई्वर दास ,
भरम ने भगावे | २
भाई सीतल चरणों के माये ,
सदा सुख पावे
गुरु सरिका देव…….

guru sarika dev hamare man bhave bhajan, gurudev bhajan गुरु सरिका देव हमारे मन भावे

This Post Has One Comment

Leave a Reply