चंदन है इस देश की माटी तपोभूमि हर ग्राम है देशभक्ति गीत लिरिक्स Deshbhakti Geet Lyrics

चंदन है इस देश की माटी तपोभूमि हर ग्राम है देशभक्ति गीत लिरिक्स | Chandan Hai is Desh Ki Maati Tapobhumi Har Gram Hai Deshbhakti Geet Lyrics

चंदन है इस देश की माटी तपोभूमि हर ग्राम है
हर बाला देवी की प्रतिमा बच्चा बच्चा राम है ||

हर शरीर मंदिर सा पावन हर मानव उपकारी है
जहॉं सिंह बन गये खिलौने, गाय जहॉं मॉं प्यारी है
जहॉं सवेरा शंख बजाता लोरी गाती शाम है || 1 ||

जहॉं कर्म से भाग्य बदलता श्रम निष्ठा कल्याणी है
त्याग और तप की गाथाऍं गाती कवि की वाणी है
ज्ञान जहॉं का गंगाजल सा निर्मल है अविराम है || 2 ||

जिस के सैनिक समरभूमि मे गाया करते गीता है
जहॉं खेत मे हल के नीचे खेला करती सीता है
जीवन का आदर्श जहॉं पर परमेश्वर का धाम है || 3 ||

chandan hai is desh ki mati tapobhumi har graam haiDeshbhakti Geet Lyrics | Deshbhakti Geet in Hindi | 26 January Deshbhakti Geet | 15 August Deshbhakti Geet | Republic Day Deshbhakti Geet | Patriotic Song Lyrics in Hindi | Independence Day Deshbhakti Song Lyrics 

chandan hai is desh ki mati tapobhumi har graam haiDeshbhakti Geet Lyrics | Deshbhakti Geet in Hindi | 26 January Deshbhakti Geet | 15 August Deshbhakti Geet | Republic Day Deshbhakti Geet | Patriotic Song Lyrics in Hindi | Independence Day Deshbhakti Song Lyrics Youtube Video

This Post Has 2 Comments

Leave a Reply