छोड़ो कल की बाते, कल की बात पुरानी हम हिन्दुस्तानी देशभक्ति गीत Deshbhakti Geet Lyrics

Bhajan Bhakti Songs Details with Lyrics & Video

छोड़ो क की बाते, कल की बात पुरानी हम हिन्दुस्तानी देभक्ति गीत | Ham Hindustani Deshbhakti Geet Lyrics

छोड़ो कल की बातें कल की बात पुरानी,
नये दौर में लिखेंगे मिलकर नई कहानी,
हम हिन्दुस्तानी, हम हिन्दुस्तानी …

छोड़ो कल की बातें कल की बात पुरानी,
नये दौर में लिखेंगे मिलकर नई कहानी,
हम हिन्दुस्तानी, हम हिन्दुस्तानी …

आज पुरानी जंजीरों को तोड़ चुके हैं,
क्या देखें उस मंजिल को जो छोड़ चुके हैं,
चांद के दर पे जा पहुंचा है आज जमाना,
नए जगत से हम भी नाता जोड़ चुके हैं,
नया खून है, नई उमंगें, अब है नई जवानी,
हम हिन्दुस्तानी, हम हिन्दुस्तानी …
छोड़ो कल की बातें …..

हमको कितने ताजमहल हैं और बनाने,
कितने ही अजंता हम को और सजाने,
अभी पलटना है रुख कितने दरियाओं का,
कितने पर्वत राहों से हैं आज हटाने,
नया खून है, नई उमंगें, अब है नई जवानी,
हम हिन्दुस्तानी, हम हिन्दुस्तानी …
छोड़ो कल की बातें….

आओ मेहनत को अपना ईमान बनाएं,
अपने हाथों को अपना भगवान बनाएं,
राम की इस धरती को गौतम की भूमि को,
सपनों से भी प्यारा हिंदुस्तान बनाएं,
नया खून है, नई उमंगें, अब है नई जवानी,
हम हिन्दुस्तानी, हम हिन्दुस्तानी …
छोड़ो कल की बातें….

हर जर्रा है मोती आंख उठाकर देखो,
माटी में सोना है हाथ बढ़ाकर देखो,
सोने की ये गंगा है चांदी की यमुना,
चाहो तो पत्थर से धान उगाकर देखो,
नया खून है, नई उमंगें, अब है नई जवानी,
हम हिन्दुस्तानी, हम हिन्दुस्तानी…
छोड़ो कल की बातें….

छोड़ो कल की बातें कल की बात पुरानी,
नये दौर में लिखेंगे मिलकर नई कहानी,
हम हिन्दुस्तानी, हम हिन्दुस्तानी … 2

English me lyrics

Chodo kal ki baten, kal ki baat purani
naye daur mein likhenge milkar nayi kahani
Hum hindustani, hum hindustani

Chodo kal ki baten, kal ki baat purani
naye daur mein likhenge milkar nayi kahani
Hum hindustani, hum hindustani

Aaj purani zanjiron ko tod chuke hain
Kya dekhe us manzil ko jo chod chuke hain
Chand ke dar pe ja pahuncha hai aaj zamana
naye jagat se hum bhi nata jod chuke hain
naya khoon hai, nayi umangein, ab hai nayi jawani
Hum hindustani, hum hindustani
Chodo kal ki baten…..

Humko Kitne Taj Mahal Hain Aur Banane,
Kitne Hi Ajanta Humko Aur Sajane,
Abhi Palatna Hai Rukh Kitne Dariyaon Ka,
Kitne Parbat Raahon Se Hai Aaj Hatane,
naya khoon hai, nayi umangein, ab hai nayi jawani
Hum hindustani, hum hindustani
Chodo kal ki baten…..

Aao mehnat ko apna iman banaye
Apne hathon ko apna bhagwan banaye
Ram ki is dharti ko gautam ki bhumi ko
Sapnon se bhi pyara hindustan banaye
naya khoon hai, nayi umangein, ab hai nayi jawani
Hum hindustani, hum hindustani
Chodo kal ki baten…..

Har zarra hai moti, ankh utha kar dekho
Maati mein sona hai, hath badha kar dekho
Sone ki yeh ganga hai, chandi ki yamuna
Chaho to patthar pe dhaan ugakar dekho
naya khoon hai, nayi umangein, ab hai nayi jawani
Hum hindustani, hum hindustani
Chodo kal ki baten…..

Chhodo kal ki baten, kal ki baat puraani
naye daur mein likhenge milkar nayi kahani
Hum hindustani, hum hindustani – 2

Video

Leave a Reply