जय पार्वती माता आरती लिरिक्स

~ श्री पार्वती मां की आरती ~

जय पार्वती माता ,
मैया जय पार्वती माता ,
ब्रह्म सनातन देवी ,
शुभ फल की दाता । ॐ जय . . .

अरिकल पद्म विनासनि ,
जय सेवक त्राता ,
जग जीवन जगदंबा ,
हरिहर गुण गाता । ॐ जय . . .

सिंह को वाहन साजे ,
कण्डल है साथा ,
देव वधू जहं गावत ,
नृत्य करत ता था । ॐ जय . . .

सतयुग शील सुसंदर ,
नाम सति कहलाता ,
हेमांचल घर जन्मी ,
सखियन रंगराता । ॐ जय . . .

सुम्भ निशुंभ विदारे ,
हेमांचल स्याता ,
सहस भुजा तनु धरिके ,
चक्र लियो हाथा । ॐ जय . . .

सृष्टि रूप तू ही जननी ,
शिव संग रंगराता ,
नंदी भंगी बीन लही ,
सारा मदमाता । ॐ जय . . .

देवन अरज करत हम ,
चित को लाता ,
गावत दे दे ताली ,
मन में रंगराता । ॐ जय . . .

श्री प्रताप आरती मैया की ,
जो कोई गाता ,
सदा सुखी नित रहता ,
सुख संपति पाता । ॐ जय . . .

parvati mata ji ki aarti, hindi aartiya जय पार्वती माता आरती

This Post Has One Comment

Leave a Reply