जागण जागे रे अलखजी थारे नाम रो रे

जागण जागे रे, अलखजी थारे नाम रो रे।

दोहा – प्रथम गुराजी ने वंदना ओर,
द्वितीय आद गणेश,
तृतीय सिवरू शारदा,
मारे हिरदे करो परवेश।
सुर बिना मिले न सरस्वती,
बिन गुरू मिले नही ग्यान,
अन्न बिन हंसा उड चले,
बिन जल तजदे प्राण।
सुर दे माता सरस्वती,
थे गुरु दो दाता ग्यान,
अन्न दिजो माता धरतरी,
ओ थे जल बरसावो भगवान।
आय भवानी वास करो,
ओ मेरे घट के परदे खोल,
रचना पर जीबीया परवाशा करो,
माँ शुद्ध शब्द मुख बोल।।

देवता रो रे कुलरा देवता रो,
ओ देवता रो रे कुलरा देवता रो,
ए जमलो जागे रे,
ए जागन जागे रे,
ओ जागन जागे रे,
अलखजी थारे नाम रो रे।।

ए… ओ देवा रणक भवन सु,
पधारजो रे,
ओ देवा रणक भवन सु,
पधारजो रे,
रिद्धि सिद्धी ने संग में,
लावजो रे,
रिद्धि सिद्धी ने संग में,
लावजो रे,
ए जमलो जागे रे,
ए जागन जागे रे,
ओ जागन जागे रे,
अलखजी थारे नाम रो रे।।

ओ मारा ब्रह्म संग माई,
विष्णु जी आवो,
ओ मारा ब्रह्म संग माई,
विष्णु जी पधारो,
माता शारदा ने लावजो रे,
वीणा वाली मैया ने लावजो रे,
ए जमलो जागे रे,
ए जागन जागे रे,
ओ जागन जागे रे,
अलखजी थारे नाम रो रे।।

ओ देवा रामजी रे साथ मे,
लक्ष्मण जी पधारो,
ओ रामजी रे साथ मे,
लक्ष्मण जी आवो,
सीता मैया ने संग मे लावजो रे,
सीता मैया ने संग मे लावजो रे,
ए जमलो जागे रे,
ए जागन जागे रे,
ओ जागन जागे रे,
अलखजी थारे नाम रो रे।।

ओ देवा राम रूनीचे बाबा,
रामदेव आवो,
ओ देवा राम रूनीचे बाबा,
रामदेव आवो,
नेतल रानी ने संग मे लावजो रे,
नेतल रानी ने संग मे लावजो रे,
ए जमलो जागे रे,
ए जागन जागे रे,
ओ जागन जागे रे,
अलखजी थारे नाम रो रे।।

ओ मारा बिलाड़ा धनीयानी,
मारी आईजी पधारो,
ओ मारा बिलाड़ा धनीयानी,
आईमाता जी पधारो,
अरे मारा दिवान सा संग मे,
लावजो रे,
माधव सिंहजी ने संग मे,
लावजो रे,
ए जमलो जागे रे,
ए जागन जागे रे,
ओ जागन जागे रे,
अलखजी थारे नाम रो रे।।

ओ देवा बाई मीरा शरनो मे,
गुण गान गावे,
ओ देवा बाई मीरा शरनो मे,
गुण गान गावे,
थोरा भगतो री लाज राखजो रे,
थोरा साधूडो री लाज राखजो रे,
ए जमलो जागे रे,
ए जागन जागे रे,
ओ जागन जागे रे,
अलखजी थारे नाम रो रे।।

महामंत्र:ओम् गण गणपति नमो नम:,
श्री सिद्धी विनायक नमो नमः,
अष्ट विनायक नमो नमः,
गणपति बप्पा मौर्या।

देवता रो रे कुलरा देवता रो,
ओ देवता रो रे कुलरा देवता रो,
ए जमलो जागे रे,
जागण जागे रे,
ओ जागन जागे रे,
अलखजी थारे नाम रो रे।।

राजस्थानी भजन जागण जागे रे अलखजी थारे नाम रो रे

Leave a Reply