जिस पे तेरी नज़र हो उसको फिर क्या फिकर हो भजन लिरिक्स

जिस पे तेरी नज़र हो,
उसको फिर क्या फिकर हो।

चलना साथ साथ कान्हा मेरी राहो में,
अगर गिर मैं जाऊँ कही उठा लेना बाहों में,
अगर गिर मैं जाऊँ कही उठा लेना बाहों में,
तेरे सिवा मुझको, तेरे सिवा मुझको,
कौन संभाले,
मुरली वाले ओ मुरली वाले,
मुरली वाले ओ मुरली वाले।

परिवार मेरा बाबा तेरे हवाले,
मुरली वाले ओ मुरली वाले,
मुरली वाले ओ मुरली वाले।।

टूटे दिल से सदाए सदा आती है,
टूटे दिल से सदाए सदा आती है,
सुख में सभी है कोई दुख में ना साथी है,
सुख में सभी है कोई दुख में ना साथी है,
मतलबी जमाना, मतलबी जमाना,
मतलब निकाले,
मुरली वाले ओ मुरली वाले,
मुरली वाले ओ मुरली वाले।

परिवार मेरा बाबा तेरे हवाले,
मुरली वाले ओ मुरली वाले,
मुरली वाले ओ मुरली वाले,
जिस पे तेरी नज़र हों,
उसको फिर क्या फिकर हो।।

मुझको डर है तो केवल संसार का,
मुझको डर है तो केवल संसार का,
क्यूंकि हमारे सर पर बोझ परिवार का,
क्यूंकि हमारे सर पर बोझ परिवार का,
थोड़ा बोझ तू भी कान्हा,
थोड़ा बोझ तू भी कान्हा,
सर पे उठाले,
मुरली वाले ओ मुरली वाले,
मुरली वाले ओ मुरली वाले।

परिवार मेरा बाबा तेरे हवाले,
मुरली वाले ओ मुरली वाले,
मुरली वाले ओ मुरली वाले,
जिस पे तेरी नज़र हों,
उसको फिर क्या फिकर हो।।

तू तो हारे का सहारा मेरा श्याम है,
तू तो हारे का सहारा मेरा श्याम है,
एक हूँ अकेला जग में और कई काम है,
एक हूँ अकेला जग में और कई काम है,
जरा हाथ कान्हा मेरा,
जरा हाथ कान्हा मेरा,
तू भी बटा ले,
मुरली वाले ओ मुरली वाले,
मुरली वाले ओ मुरली वाले।

परिवार मेरा बाबा तेरे हवाले,
मुरली वाले ओ मुरली वाले,
मुरली वाले ओ मुरली वाले,
जिस पे तेरी नज़र हों,
उसको फिर क्या फिकर हो।।

जिस पे तेरी नज़र हो,
उसको फिर क्या फिकर हो,
चलना साथ साथ कान्हा मेरी राहो में,
अगर गिर मैं जाऊँ कही उठा लेना बाहों में,
अगर गिर मैं जाऊँ कही उठा लेना बाहों में,
तेरे सिवा मुझको तेरे सिवा मुझको,
कौन संभाले,
मुरली वाले ओ मुरली वाले,
मुरली वाले ओ मुरली वाले।

कृष्ण भजन जिस पे तेरी नज़र हो उसको फिर क्या फिकर हो भजन लिरिक्स
तर्ज – जाने वाले ओ जाने वाले।

Leave a Reply