जीवन है चार दिन का एक रोज सब को जाना भजन लिरिक्स हिंदी में

फिल्मी तर्ज भजन जीवन है चार दिन का एक रोज सब को जाना भजन लिरिक्स हिंदी में

Singer : Pandit Gyanendra Sharma
तर्ज – मुझे इश्क है तुझी से।

 

जीवन है चार दिन का
एक रोज सब को जाना
सामान सौ बरस का
पल का नहीं ठिकाना
जीवन है चार दिन का।।

मलमल के रोज साबुन
चमका रहा है जिसको
इत्रों फुलेल से तू
महक रहा है जिसको
काया ये खाक होगी
ये बात ना भूलाना
सामान सौ बरस का
पल का नहीं ठिकाना
जीवन है चार दिन का।।

जीवन हैं चार दिन का
एक रोज सब को जाना
सामान सौ बरस का
पल का नहीं ठिकाना
जीवन है चार दिन का।।

मन है हरी का मंदिर
इसको निखार ले तू
कर कर के कर्म अच्छे
जीवन सवार ले तू
पापो से मन हटा ले
प्रभु को अगर है पाना
सामान सौ बरस का
पल का नहीं ठिकाना
जीवन है चार दिन का।।

जीवन हैं चार दिन का
एक रोज सब को जाना
सामान सौ बरस का
पल का नहीं ठिकाना
जीवन है चार दिन का।।

एक रोज होगी जर्जर
कंचन सी तेरी काया
तिनका तलक भी तुझसे
ना जायेगा हिलाया
रह जायेगा यही पर
धन महल और खजाना
सामान सौ बरस का
पल का नहीं ठिकाना
जीवन है चार दिन का।।

जीवन हैं चार दिन का
एक रोज सब को जाना
सामान सौ बरस का
पल का नहीं ठिकाना
जीवन है चार दिन का।।

साथी है दो घड़ी के
कहता है जिनको अपना
जग नींद से ओ मुरख
जग रेन का है सपना
गाए जा ज्ञान निश दिन
हरी नाम का तराना
सामान सौ बरस का
पल का नहीं ठिकाना
जीवन है चार दिन का।।

जीवन हैं चार दिन का
एक रोज सब को जाना
सामान सौ बरस का
पल का नहीं ठिकाना
जीवन है चार दिन का।।

जीवन है चार दिन का
एक रोज सब को जाना
सामान सौ बरस का
पल का नहीं ठिकाना
जीवन है चार दिन का।।

 

jeevan hai chaar din ka ek roj sab ko jaana bhajan ke bol hindee mein

philm lains bhajan jeevan hai chaar din ka ek roj sab ko jaana bhajan ke bol hindee mein
gaayak: pandit gyaanendr sharma
tarj – aaee lav yoo.

 

jeevan hai chaar din ka
ek din sab jaanate hain
sau saal kee baat
kshanik sthaan
jeevan chaar din hai.

malamal delee sop
chamak raha hai jo
itro phulel se too
mahak kee tarah
kaaya ye khaak hogee
ye baat na bhoolaana
sau saal kee baat
kshanik sthaan
jeevan chaar din hai.

jeevan hai chaar din ka
ek din sab jaanate hain
sau saal kee baat
kshanik sthaan
jeevan chaar din hai.

man hai hari ka mandir
ise parishkrt karen
kar kar karm achchhe
jeevan saavar le too
paap se chhutakaara
prabhu ko agar hai paana
sau saal kee baat
kshanik sthaan
jeevan chaar din hai.

jeevan hai chaar din ka
ek din sab jaanate hain
sau saal kee baat
kshanik sthaan
jeevan chaar din hai.

ek din yah jarjar ho jaega
kanchan see teree kaaya
tinaka talaak bhee tujhase
na jaega hilaaya
vahee rahega
dhan mahal aur khajaana
sau saal kee baat
kshanik sthaan
jeevan chaar din hai.

jeevan hai chaar din ka
ek din sab jaanate hain
sau saal kee baat
kshanik sthaan
jeevan chaar din hai.

saathee hai do ghaadee ke
kahate hain jinake maalik hain
jag nind se o murakh
jag laga ka hai sapana
gae ja nish nish din
hari naam ka taraana
sau saal kee baat
kshanik sthaan
jeevan chaar din hai.

jeevan hai chaar din ka
ek din sab jaanate hain
sau saal kee baat
kshanik sthaan
jeevan chaar din hai.

jeevan hai chaar din ka
ek din sab jaanate hain
sau saal kee baat
kshanik sthaan
jeevan chaar din hai.

This Post Has One Comment

Leave a Reply