झालर शंख नगारा बाजे रे सालासर का मंदिर में भजन लिरिक्स

।। दोहा ।।
लाल देह लाली लसे ,अरूधर लाल लंगूर।
वज्र देह दानव दलन , जय जय कपि सुर।

झालर शंख नगाड़ा बाजे रे ,
सालासररा मंदिर में ,
हनुमान विराजे रे ।२।
हनुमान विराजे रे ,
बलि बजरंग विराजे रे।

भारत राजस्थान में ,
सालासर एक धाम।
सूरज सामी बनियो देवरो ,
बालाजी रो धाम।
जारे लाल ध्वजा लहरावे रे ,
सालासर रा मंदिर में ,
हनुमान विराजे रे ।
झालर शंख। ….

जेष्ठ सुदी पूनम रो मेलो ,
भीड़ लगे अति भारी।
नर नारी थारा दर्शन करबा ,
आवे बारी बारी।
बाबो अटकिया काम बनावे रे।
सालासर रा मंदिर में ,
हनुमान विराजे रे ।
झालर शंख। ….

नारेला री गिणती कोने ,
सवरे क्षत्र अपार।
दूर देश सु दर्शन करबा ,
आवे नर और नार।
थारे जाट जडूला लागे रे ,
सालासर रा मंदिर में ,
हनुमान विराजे रे ।
झालर शंख। ….

राम दूत अंजनी के लाल का ,
धरो हमेशा ध्यान।
चेन सिंह चरणा रो चाकर ,
लाज रखो हनुमान।
सबकी नैया पार लागज्ये रे।
सालासर रा मंदिर में ,
हनुमान विराजे रे ।
झालर शंख। ….

झालर शंख नगाड़ा बाजे रे ,
सालासररा मंदिर में ,
हनुमान विराजे रे ।२।
हनुमान विराजे रे ,
बलि बजरंग विराजे रे।

झालर शंख नगारा बाजे रे सालासर का मंदिर में भजन jhalar shankh nagara baje re salasar ra mandir me hanuman viraje salasar balaji ke bhajan

Leave a Reply