ढोल नगाड़ा बाजे शंख घड़ियाल गूंजे भजन लिरिक्स

ढोल नगाड़ा बाजे शंख घड़ियाल गूंजे,
मृदंग बाजे बाजे खड़ताल,
राम के भजन में होके मगन देखो,
घुंघरू बाँध नाचे अंजनी को लाल,
घुंघरू बाँध नाचे अंजनी को लाल,
ता ता धिनक नाचे अंजनी को लाल,
ता ता धिनक नाचे अंजनी को लाल।।

लाल सिंदूर से देह रंगाई,
लाल सिंदूर से देह रंगाई,
शीश मुकुट गल माल सुहाई,
शीश मुकुट गल माल सुहाई,
मुख पे तेज छवि मन भायी,
मुख पे तेज छवि मन भायी,
लाल लंगोटे वाला,
हाथ में सोटे वाला,
बन के नचईया करत कमाल,
राम के भजन में होके मगन देखो,
घुंघरू बाँध नाचे अंजनी को लाल,
ता ता धिनक नाचे अंजनी को लाल,
ता ता धिनक नाचे अंजनी को लाल।।

मन में बसाये राम सलोना,
मन में बसाये राम सलोना,
ओड़न राम को राम बिछोना,
ओड़न राम को राम बिछोना,
राम कहे जाग तो राम कहे सोना,
राम कहे जाग तो राम कहे सोना,
चतुर सुजान पड़ी दुविधा जो आन,
किए राम के काम,
तोड़ी पवन की चाल,
राम के भजन में होके मगन देखो,
घुंघरू बाँध नाचे अंजनी को लाल,
ता ता धिनक नाचे अंजनी को लाल,
ता ता धिनक नाचे अंजनी को लाल।।

देखे नहीं ताल ख्याल नहीं सम का,
देखे नहीं ताल ख्याल नहीं सम का,
सुध बुध खोके लगाये रहे ठुमका,
सुध बुध खोके लगाये रहे ठुमका,
क्या कहना हनुमत तुम्हारी छम छम का,
क्या कहना हनुमत तुम्हारी छम छम का,
राम दुलारे बजरंग प्यारे,
राम दुलारे बजरंग प्यारे,
‘लक्खा’ के ‘सरल’ तुम्ही रजपाल,
राम के भजन में होके मगन देखो,
घुंघरू बाँध नाचे अंजनी को लाल,
ता ता धिनक नाचे अंजनी को लाल,
ता ता धिनक नाचे अंजनी को लाल।।

ढोल नगाड़ा बाजे शंख घड़ियाल गूंजे,
मृदंग बाजे बाजे खड़ताल,
राम के भजन में होके मगन देखो,
घुंघरू बाँध नाचे अंजनी को लाल,
घुंघरू बाँध नाचे अंजनी को लाल,
ता ता धिनक नाचे अंजनी को लाल,
ता ता धिनक नाचे अंजनी को लाल।।

Leave a Reply