तारा विना श्याम मने एकलडु लागे गरबा लिरिक्स

तारा विना श्याम मने एकलडु लागे,
रास रमवा ने वेळो आवजे।
तारा विना श्याम एकलडु लागे।।

शरद पूनम नी रातडी ,
चांदनी खिली छे भली भांतनी।
तू न आवे तो श्याम,
रास जामे न श्याम।
रास रमवा ने वेलो आव श्याम,
रास रमवा ने वेळो आवजे,
तारा विना ….

गरबे घूमती गोपियो ओहो,
सूनी छे गोकुल नी शेरीयो।
सूनी सूनी शेरियो मा,
गोकुल नी गलियों मा।
रास रमवा ने वेळो आव श्याम,
रास रमवा ने वेळो आवजे।
तारा विना ….

अंग अंग रंग छे उमंग नो ओहो,
रंग केम जाए तारा संग नो।
पायल झंकार सुणी,
रोदिया नो नाद सुणी।
रास रमवा ने वेळो आव श्याम,
रास रमवा ने वेळो आवजे।
तारा विना ….

तारा विना श्याम मने एकलडु लागे,
रास रमवा ने वेळो आवजे।
तारा विना श्याम एकलडु लागे।।

गरबा सॉन्ग गुजराती gujarati garba video

तारा विना श्याम मने गरबा लिरिक्स tara vina shyam mane ekladu lage lyrics gujrati garba lyrics
ભજન :- તારા વિના શ્યામ એકલડું લાગે
ગાયક :- કિશોર મનરાજ

Leave a Reply