दास करे अरदास विनती सुणजो आई मात

दास करे अरदास विनती,
सुणजो आई मात,
शरने आयोडा री लजीया राखो,
डायलाणा री माँ,
दास करें अरदास विनती,
सुणजो आई मात,
शरने आयोडा री लाज राखो,
बिलाड़ा री माँ।।

घणो में फिरीयो देवी देवता रे,
कोई न करी लीगार माँ,
घणो मे फिरीयो देवी देवता रे,
कोई न करी लीगार,
नाम सुनीयो डायलाने आयो,
सुन लीजो पुकार,
अरे नाम सुनीयो डायलाने आयो,
माँ सुन लीजो पुकार,
दास करे अरदास विनती,
सुणजो आई मात,
शरने आयोडा री लाज राखो,
बिलाड़ा री माँ।।

आगे पीछे कोई न मारे,
नही है आद औलाद,
अरे आगे पीछे कोई न मारे,
नहीं है आद औलाद,
अरे एक टाबरीयो माने दिजो,
बिलाड़ा री माँ,
अरे एक टाबरीयो माने दिजो,
जीजीवड री माँ,
दास करें अरदास विनती,
सुणजो आई मात,
शरने आयोडा री लाज राखो,
बिलाड़ा री माँ।।

ऊंचो मंदिर घणो रूपालो,
थारो आई माँ,
अरे ऊंचो मंदिर घणो रूपालो,
थारो आई माँ,
चढवाने माने शक्ति दिजो,
बिलाड़ा री माँ,
अरे चढवाने माने शक्ति दिजो,
बिलाड़ा री माँ,
दास करें अरदास विनती,
सुणजो आई मात,
शरने आयोडा री लाज राखो,
बिलाड़ा री माँ।।

ओतो थोरो ए जगदम्बा,
मोटो देवरो ए माँ,
ओतो थोरो ए जगदम्बा,
मोटो देवरो ए माँ,
माने टाबरीया जोने ने दर्शन,
देवजो डायलाणा वाली मावडी ए माँ,
माने टाबरीया जोने ने दर्शन देवजो,
डायलाणा वाली मावडी ए माँ।।

ए परचा जीजीवड धाम पर,
डोरा टाकता ए माँ,
अरे परचा जीजीवड धाम पे,
डोरा टाकता ए माँ,
ए राखी राखी बडला वाली,
छाव रे जीजीवड वाली मावडी ए माँ,
राखी राखी रे बडला वाली छाव,
जीजीवड वाली मावडी ए माँ।।

ए माँ डोराबंध आवे है,
थोरे देवरे ए माँ,
ए माँ डोराबंध आवे है,
थोरे देवरे ए माँ,
अरे थे राखो राखो टाबरीया री लाज,
डायलाणा वाली मावडी ए माँ,
अरे थे राखो राखो टाबरीया री लाज,
डायलाणा वाली मावडी ए माँ।।

ए माँ शंकर थारो भजन,
बनावीयो ए माँ,
ए माँ शंकर थारो भजन,
गावतो ए माँ,
अरे ओतो जीजीवड धाम नमतो,
आवतो डायलाणा वाली मावडी ए माँ,
अरे ओतो जीजीवड धाम नमवो,
आवतो डायलाणा वाली मावडी ए माँ,
अरे ओतो थोरो ए जगदम्बा,
मोटो देवरो ए माँ,
अरे ओतो थोरो ए आईमाता,
थोरो देवरो ए माँ,
ए माने तो जोने ने दर्शन देवजो,
डायलाणा वाली मावडी ए माँ,
बिलाड़ा वाली मावडी ए माँ।।

राजस्थानी भजन दास करे अरदास विनती सुणजो आई मात

Leave a Reply