दिनों के नाथ हे करूणानिधि तेरे सामने एक दुखियारा है लिरिक्स

दिनों के नाथ हे करूणानिधि,
तेरे सामने एक दुखियारा है,
हारे के सहारे हो तुम ही,
हारे के सहारे हो तुम ही,
यही सोच के तुमको पुकारा है,
दिनो के नाथ हें करूणानिधि।।

किस्मत ने लेख जी लिख डाला,
उसको बस तुम ही बदल सकते,
इस आस पे ही हमने भी प्रभु,
इस आस पे ही हमने भी प्रभु,
दामन ये अपना पसारा है,
दिनो के नाथ हें करूणानिधि।।

दुनिया में नाम तुम्हारा है,
छोटा सा काम हमारा है,
हर मुश्किल का हल पास तेरे,
हर मुश्किल का हल पास तेरे,
इतना विश्वास हमारा है,
दिनो के नाथ हें करूणानिधि।।

सुनते हो सदा तुम सबकी प्रभु,
‘मोहित’ की भी तुम सुन लो जरा,
ना जाने कितनो का जीवन,
ना जाने कितनो का जीवन,
हाथों से तुमने संवारा है,
दिनो के नाथ हें करूणानिधि।।

दिनों के नाथ हे करूणानिधि,
तेरे सामने एक दुखियारा है,
हारे के सहारे हो तुम ही,
हारे के सहारे हो तुम ही,
यही सोच के तुमको पुकारा है,
दिनो के नाथ हें करूणानिधि।।

Leave a Reply