नाडोल री धणीयाणी म्हारी आशापुरा महारानी ओ माँ

नाडोल री धणीयाणी म्हारी,
आशापुरा महारानी ओ माँ,
दीन दुखी रा कारज सारो,
भगता री रखवाली ओ माँ,
चौहान कुल माँ थाने मनावे,
नाडोल गढ़ रे माई ओ माँ,
भगता री रखवाली मैया,
नाडोल री धणीयाणी।।

नवरात्रि में मेलो लागे,
नाडोल नगरी माई ओ माँ,
इन कलयुग मे एक आसरो,
आशापुरी कुलदेवी ओ माँ,
दूर दूर सु आवे जातरू,
निवन करे नर नारी ओ माँ,
निवन करे नर नारी माता,
जग में परचा भारी,
भगता री रखवाली मैया,
नाडोल री धणीयाणी।।

ढोल नगाडा नोपत बाजे,
थारे मन्दिर माई ओ माँ,
ढोला रे ढमकारे आवो,
म्हाने दर्शन देवो ओ माँ,
सूरज सामी बनीयो देवरो,
मूरत लागे प्यारी ओ माँ,
मूरत लागे प्यारी म्हारी,
शोभा है अति न्यारी,
भगता री रखवाली मैया,
नाडोल री धणीयाणी।।

सोनाला रा भेरूजी माँ,
थारे आगलवानी ओ माँ,
सोनाला रा भेरूजी माँ,
थारे आगलवानी ओ माँ,
रिमझिम करता आवे भेरूजी,
भगता रे बुलाया ओ माँ,
अरे भगता रे बुलाया माता,
वेगा वेगा आवो,
भगता री रखवाली मैया,
नाडोल री धणीयाणी।।

सोगसिंहजी माँ आवे द्वारे,
नाडोल नगरी माई ओ माँ,
सुख सिंह जी रा कंवर लाडला,
थाने शिश नमावे ओ माँ,
मदन माली थारा भजन बनावे,
‘गणपत सिंह’ गुण गावे ओ माँ,
‘इन्द्र शर्मा’ म्यूजिक बजावे,
किरपा वापर किजो ओ माँ,
अरे किरपा मापर किजो मैया,
चरना मे म्हाने लेलो,
भगता री रखवाली मैया,
नाडोल री धणीयाणी।।

नाडोल री धणीयाणी म्हारी,
आशापुरा महारानी ओ माँ,
दीन दुखी रा कारज सारो,
भगता री रखवाली ओ माँ,
चौहान कुल माँ थाने मनावे,
नाडोल गढ़ रे माई ओ माँ,
भगता री रखवाली मैया,
नाडोल री धणीयाणी।।

राजस्थानी भजन नाडोल री धणीयाणी म्हारी आशापुरा महारानी ओ माँ

Leave a Reply