नित खैर मंगा सोणेया मैं तेरी भजन लिरिक्स

नित खैर मंगा सोणेया मैं तेरी,
दुआ ना कोई होर मंगदी।

श्लोक – पास रहता है या दूर रहता है,
मेरे दिल में कोई जरूर रहता है,
जबसे देखा है बांके बिहारी तुम्हे,
हल्का हल्का सरूर रहता है।

नित खैर मंगा सोणेया मैं तेरी,
दुआ ना कोई होर मंगदी,
तेरे पैरा च आखिर होवे मेरी,
तेरे पैरा च आखिर होवे मेरी,
दुआ ना कोई होर मंगदी,
नित खैर मंगा सोणेया मै तेरी,
दुआ ना कोई होर मंगदी।।

तेरे प्यार दिता जदो दा सहारा ऐ,
तेरे प्यार दिता जदो दा सहारा ऐ,
मेनू भूल गया माहिया जग सारा ऐ,
मेनू भूल गया माहिया जग सारा ऐ,
ख़ुशी एहो मेनू सजना बथेरी,
दुआ ना कोई होर मंगदी,
नित खैर मंगा सोणेया मै तेरी,
दुआ ना कोई होर मंगदी।।

तू जे मिलया ते मिल गई खुदाई वे,
तू जे मिलया ते मिल गई खुदाई वे,
हथ जोड़ आँखा पाई ना जुदाई वे,
हथ जोड़ आँखा पाई ना जुदाई वे,
मर जावांगी मैं आंख जे तो फेरी,
दुआ ना कोई होर मंगदी,
नित खैर मंगा सोणेया मै तेरी,
दुआ ना कोई होर मंगदी।।

खैरा दम दम ढोला मंगा तेरियां,
खैरा दम दम ढोला मंगा तेरियां,
शाळा लग जाण शावा तेनु मेरियाँ,
शाळा लग जाण शावा तेनु मेरियाँ,
मैं ता मर के भी रेवा माइया तेरी,
दुआ ना कोई होर मंगदी,
नित खैर मंगा सोणेया मै तेरी,
दुआ ना कोई होर मंगदी।।

पावा वास्ता वे कल्ली छड जावी ना,
पावा वास्ता वे कल्ली छड जावी ना,
मेनू हस्सा इस जग दा बनावी ना,
मेनू हस्सा इस जग दा बनावी ना,
करां मिनता मैं एइयो हाथ जोड़ी,
दुआ ना कोई होर मंगदी,
नित खैर मंगा सोणेया मै तेरी,
दुआ ना कोई होर मंगदी।।

नित खैर मंगा सोणेया मैं तेरी,
दुआ ना कोई होर मंगदी,
तेरे पैरा च आखिर होवे मेरी,
तेरे पैरा च आखिर होवे मेरी,
दुआ ना कोई होर मंगदी,
नित खैर मंगा सोणेया मै तेरी,
दुआ ना कोई होर मंगदी।।

Leave a Reply