पर्व आया पर्युषण के जैनियों का पर्व सुहाना भजन लिरिक्स

पर्व आया पर्युषण के जैनियों का पर्व सुहाना भजन लिरिक्स
तर्ज – ओ माहि रे।
Singer Prachi Jain
Lyrics :Dilip Ji dilbar
Music arranged By : Abhishek Patidar

हो.. आया रे..
पर्व आया पर्युषण,
के जैनियों का पर्व सुहाना,
महिमा बड़ी है महान,
के पर्व है ये सदियों पुराना।
ये है पर्वा धिराज,
पर्वो का सिरताज,
जैनियों की शान,
जिसपे सबको है नाज
सब.. के.. दिल… में उमंग,
पलके बिछाकर के,
सजाये देखो घर और अंगना,
महिमा बड़ी है महान,
के जैनियों का पर्व सुहाना।।

मंदिर ये सज गये जिनवर के,
उपाश्रय में पड़े चरण गुरुवर के,
आठ दिनों के ये, पल है सुहाने,
भक्ति की मस्ती में, सब है दीवाने,
क्षमादान का ये पर्व,
जिसपे हमको है गर्व,
“दिलबर” दिल से मनाना,
पर्युषण महापर्व,
बीत ना जाये ये पल,
‘प्राची’ गाये दिल से भजन,
की भक्तो को भक्ति में झूमना।
महिमा बड़ी है महान,
के पर्व है ये सदियों पुराना।

हो.. आया रे..
पर्व आया पर्युषण,
के जैनियों का पर्व सुहाना,
महिमा बड़ी है महान,
के पर्व है ये सदियों पुराना।
ये है पर्वा धिराज,
पर्वो का सिरताज,
जैनियों की शान,
जिसपे सबको है नाज
सब.. के.. दिल… में उमंग,
पलके बिछाकर के,
सजाये देखो घर और अंगना,
महिमा बड़ी है महान,
के जैनियों का पर्व सुहाना।।

Watch Video song of पर्व आया पर्युषण के जैनियों का पर्व सुहाना भजन

Leave a Reply