पीरजी पधारो सतगुरु देव कर जोडा थाने अर्ज करा

राजस्थानी भजन पीरजी पधारो सतगुरु देव कर जोडा थाने अर्ज करा

पीरजी पधारो सतगुरु देव,
कर जोडा थाने अर्ज करा।

सिरेमंदिर गढ बैसनो,
अलख समाधिया रे मास,
मेरे शान्तिनाथजी,
पुरे सब भक्ता री आस।।

ओ पीरजी पधारो सतगुरु देव,
कर जोडा थाने अर्ज करा,
ओ नाथजी पधारो सतगुरु देव,
कर जोडा थाने अर्ज करा,
कर जोडा थाने विनती करा।।

सिरेमंदिर गढ बैसनो,
थोरी होवे जय जयकार,
पीरजी होवे जय जयकार,
दुर देशा रा घणा आवेरे जातरु,
नीम खावे थारोडे दरबार,
गुरुजी म्हारी अर्ज सुनो,
औ म्हारा पीरजी पधारो सतगूरु देव,
कर जोडा थाने अर्ज करा,
कर जोडा थाने विनती करा।।

अरे बत्तीस चौमासा आप कराया,
किनो जग कल्याण,
गुरुजी कीनो जग कल्याण,
अरे धर्म री तो जोत जगाई,
बढियो थोरो मान,
गुरुजी म्हारी अर्ज सुनो,
औ म्हारा पीरजी पधारो सतगूरु देव,
कर जोडा थाने अर्ज करा,
कर जोडा थाने विनती करा।।

अरे नाथ सम्प्रदा मे नाम आपरो,
भैरु अखाडा रा भुप,
पीरजी सिरेमंदिर गढ भुप,
अरे जगत जालौरी आपने माने,
जोगी शिव शंकर रुप,
गुरुजी म्हारी अर्ज सुनो,
औ म्हारा पीरजी पधारो सतगूरु देव,
कर जोडा थाने अर्ज करा,
कर जोडा थाने विनती करा।।

अरे लिखे जोरावत पीरजी री महीमा,
अलख तणो इतिहास,
पीरजी साचो है इतिहास,
अरे सुखदेव सैन श्रृदा सुणावे,
मन मे है गणो विश्वास,
गुरुजी म्हारी अर्ज सुनो,
औ म्हारा पीरजी पधारो सतगुरु देव,
कर जोडा थाने अर्ज करा,
कर जोडा थाने विनती करा।।

ओ पीरजी पधारो सतगुरु देव,
कर जोडा थाने अर्ज करा,
ओ नाथजी पधारो सतगुरु देव,
कर जोडा थाने अर्ज करा,
कर जोडा थाने विनती करा।।

Leave a Reply