पीरा को है पीर माता मैणादे को लाल जी

पीरा को है पीर,
माता मैणादे को लाल जी,
भक्त उबारन लीन्हो बाबो,
कलयुग में अवतार जी,
जय जय बोलो जी,
जयकारों रामापीर रो।।

रामदेवरा धाम सुहाणों,
भक्तां रे मन भावे जी,
जो कोई साँचा मन सु ध्यावे,
मन इच्छा फल पावे जी,
जय जय बोलो जी,
जयकारों रामापीर रो।।

मेवा मिठाई चढ़े चूरमा,
निलोड़ा नारेल जी,
कलयुग रो अवतारी बाबो,
दुखड़ा देवे मेट जी,
जय जय बोलो जी,
जयकारों रामापीर रो।।

राम सरोवर भरियो भारी,
नहावे नर नारी जी,
रामापीर रा दर्शन पाया,
आनन्द आवे भारी जी,
जय जय बोलो जी,
जयकारों रामापीर रो।।

पारस जी मदन जी साथ मे,
हेम राज भी जावे जी,
भंडारा में डी जे बाजे,
तकड़ो नाच दिखावे जी,
जय जय बोलो जी,
जयकारों रामापीर रो।।

प्रजापति कैलाश आपको,
प्यारो भजन बनायो जी,
चम्पा लाल मालासेरी वालो,
हरिगुण मंगल गावे जी,
बेड़ो पार लगाओ जी,
बाबा जी थांका दास रो,
जय जय बोलो जी,
जयकारों रामापीर रो।।

पीरा को है पीर,
माता मैणादे को लाल जी,
भक्त उबारन लीन्हो बाबो,
कलयुग में अवतार जी,
जय जय बोलो जी,
जयकारों रामापीर रो।।

Leave a Reply