फूलों में सज रहे हैं श्री वृन्दावन बिहारी भजन लिरिक्स Bihari Bhajan Lyrics

फूलों में सज रहे हैं श्री वृन्दावन बिहारी भजन लिरिक्स | Phulo Me Saj Rahe Hai Shri Vrindavan Bihari Bhajan Lyrics

फूलों में सज रहे हैं,
श्री वृन्दावन बिहारी।
और संग में सज रही है
वृषभानु की दुलारी॥

टेडा सा मुकुट सर पर
रखा है किस अदा से,
करुना बरस रही है,
करुना भरी निगाह से।
बिन मोल बिक गयी हूँ,
जब से छबि निहारी॥

बहिया गले में डाले
जब दोनों मुस्कुराते,
सब को ही प्यारे लगते,
सब के ही मन को भाते।
इन दोनों पे मैं सदके,
इन दोनों पे मैं वारी॥

श्रृंगार तेरा प्यारे,
शोभा कहूँ क्या उसकी,
इत पे गुलाबी पटका,
उत पे गुलाबी साडी॥

नीलम से सोहे मोहन,
स्वर्णिम सी सोहे राधा।
इत नन्द का है छोरा,
उत भानु की दुलारी॥

चुन चुन के कालिया जिसने
बंगला तेरा बनाया,
दिव्या आभूषणों से
जिसने तुझे सजाया
फूलों में सज रहे हैं
श्री वृन्दावन बिहारी

phoolon me saj rahen hain shree varindavan bihari krishna bhajanKrishna Bhajan Lyrics | Kanha Ke Bhajan | Mohan Ke Bhajan | Kanhaiya Ke Bhajan Lyrics | Kanha Bhajan Lyrics | Nandlala Ke Bhajan | Kanha Ji Ke Bhajan | Krishna Bhagwan Ke Bhajan | Lyrics of Lord Krishna Bhajan Songs Youtube Video

phoolon me saj rahen hain shree varindavan bihari krishna bhajanKrishna Bhajan Lyrics | Kanha Ke Bhajan | Mohan Ke Bhajan | Kanhaiya Ke Bhajan Lyrics | Kanha Bhajan Lyrics | Nandlala Ke Bhajan | Kanha Ji Ke Bhajan | Krishna Bhagwan Ke Bhajan | Lyrics of Lord Krishna Bhajan Songs

Leave a Reply