फूलो का तारो का सबका कहना है, एक हजारो मेंरे गुरुवर है जैन भजन लिरिक्स Jain Bhajan Lyrics

फूो का तारो का सबका कहना है, एक हजारो मेंरे गुरुवर है जैन भजन लिरिक्स | Phoolo Ka Taaro Ka Sabka Kahna Hai Jain Bhajan Lyrics तर्ज – फूलो का तारो का सबका कहना है

फूलो का तारो का सबका कहना है,
एक हजारो मेंरे गुरुवर है,
सारी उमर गुरु की भक्ति करना है,
फूलो का तारो का सबका कहना हैं,
एक हजारो मेंरे गुरुवर है,
सारी उमर गुरु की भक्ति करना है,
फूलो का तारो का सबका कहना है

ये ना जाना दुनिया ने,
गुरु भक्ति में है प्यार,
जो भी करता गुरु भक्ति,
वो हो जाता भव से पार,
आ गुरु के पास आ,
कुछ पुण्य कमाना है,
एक हजारो मेंरे गुरुवर है,
सारी उमर गुरु की भक्ति करना है,
फूलो का तारो का सबका कहना है।।

भोली भाली समता की,
सूरत जैसा तू,
प्यारी प्यारी जादू की,
मूरत जैसा तू,
हम सभी भक्तो का,
यही तो कहना है,
एक हजारो मेंरे गुरुवर है,
सारी उमर गुरु की भक्ति करना है,
फूलो का तारो का सबका कहना है।।

देखो गुरूवर हम सब है,
एक डाली के फूल,
सब कुछ भूल जाना,
हमको ना जाना भूल,
उनके चरणों में जीवन बिताना है,
एक हजारो मेंरे गुरुवर है,
सारी उमर गुरु की भक्ति करना है,
फूलो का तारो का सबका कहना है।।

फूलो का तारो का सबका कहना है,
एक हजारो मेंरे गुरुवर है,
सारी उमर गुरु की भक्ति करना है,
फूलो का तारो का सबका कहना हैं,
एक हजारो मेंरे गुरुवर है,
सारी उमर गुरु की भक्ति करना है,
फूलो का तारो का सबका कहना है।।

Video

Leave a Reply