बन्नासा जन्मीया चोटिला रे माय ओम बन्ना भजन

बन्नासा जन्मीया चोटिला रे माय,

दोहा – ओम बन्नासा री महिमा गावु,
सुनजो ध्यान लगाय,
चोटिला मे अवतरीया,
राठौडा घर माय।

शूरमा जन्मीया जन्मीया,
चोटिला रे माय,
भोमिया जन्मीया जन्मीया,
चोटिला रे माय,
सोना री कठारी नारा मोरीया ओ जियो,
अरे भाईडा बाज्या बाज्या,
जन्मतेडा सोवन थाल,
भाईडा बाज्या,
जन्मतेडा सोवन थाल,
घर घर बटाया रे बधावना ओ जियो।।

अरे भोमिया सिवरे,
जकोरी करजो सहाय,
भोमिया सिवरे,
जकारी करजो सहाय,
गाया ग्वालों री रक्षा राखजो ओ जियो।।

अरे भाईडा बाज्या बाज्या,
ढोला रा ढमकार,
भाईडा बाज्या ढोला रा ढमकार,
जोशी बुलावन सैया निसरी ओ जियो।।

अरे जोशी जी सुनलो,
थेतो म्हारा समाचार,
जोशी जी सुनलो,
थेतो म्हारा समाचार,
थाने बुलावे मोटे रावले ओ जियो।।

अरे जोशी जी लेलो,
थारा वेद ने पुराण,
जोशी जी लेलो थारा,
वेद ने पुराण,
जुना जुगा रा लेलो टिपना ओ जियो।।

अरे जोशी जी देखो थारा,
वेद ने पुराण,
जोशी जी देखो थारा,
वेद ने पुराण,
जुना जुगा रा बाचो टिपना ओ जियो।।

अरे ठाकरा छोको नक्षत्र,
छोको वार ठाकरा,
छोको नक्षत्र ने छोको वार,
छोकी घडी मे शूरो जन्मीयो ओ जियो।।

अरे ठाकरा जुग मे होवेला,
अमर नाम,
ठाकरा जुग मे होवेला,
अमर नाम,
कुल मे होवेला थारे देवता ओ जियो।।

अरे बन्नासा कलयुग माई,
मोटा थेतो देव बन्नासा,
कलयुग माई मोटा थेतो देव,
भगता रे बुलाया वेगा आवजो ओ जियो।।

अरे बन्नासा चोटिला मे,
बनीयो थारो धाम,
बन्नासा काकड़ माई,
बनीयो थारो धाम,
दूरा देशारा आवे यात्री ओ जियो।।

अरे बन्नासा मेलो लागे,
सातम वाली रात,
बन्नासा मेलो लागे,
आठम वाली रात,
सिवरीया भगता रे वेले आवजो रे जियो।।

बन्नासा जन्मीया चोटिला रे माय,
भोमिया जन्मीया जन्मीया,
चोटिला रे माय,
सोना री कठारी नारा मोरीया ओ जियो,
अरे भाईडा बाज्या बाज्या,
जन्मतेडा सोवन थाल,
भाईडा बाज्या,
जन्मतेडा सोवन थाल,
घर घर बटाया रे बधावना ओ जियो।।

Leave a Reply