बाबा थारो प्यार खाटू खिंच ले आवे रे भजन लिरिक्स

बाबा थारो प्यार,
खाटू खिंच ले आवे रे,
ग्यारस की ग्यारस बाबा,
ग्यारस की ग्यारस बाबा,
दिल मेरो रुक नहीं पावे रे,
बाबा थारों प्यार,
खाटू खिंच ले आवे रे।।

थाने म्हारो साथ निभायो,
उस घडी बाबो रे,
जद अपनों मुख मोड़ के चाल्यो,
तू बण्यो सहारो रे,
साथ निभावे रे, साथ निभावे,
दिलदार सांवरिया रे,
बाबा थारों प्यार,
खाटू खिंच ले आवे रे।।

श्याम ही म्हारो मायल बाबल,
श्याम ही संगी साथी रे,
श्याम भरोसे चाले इब तो,
इस जीवन की गाड़ी रे,
पार लगावे रे, पार लगावे रे,
दिलदार कन्हैया रे,
बाबा थारों प्यार,
खाटू खिंच ले आवे रे।।

बारस की रात्या बाबा,
जद थाने धोक लगावा रे,
मन मेरा उमड़ आवे म्हारे बाबा,
अखियां भर भर आवे रे,
मुड़ मुड़ के देख्या ‘साहनी’,
मुड़ मुड़ के देख्या
दिलदार कन्हैया ने,
बाबा थारों प्यार,
खाटू खिंच ले आवे रे।।

बाबा थारो प्यार,
खाटू खिंच ले आवे रे,
ग्यारस की ग्यारस बाबा,
ग्यारस की ग्यारस बाबा,
दिल मेरो रुक नहीं पावे रे,
बाबा थारों प्यार,
खाटू खिंच ले आवे रे।।

Leave a Reply