बाबा नीची थलवट ने ऊंचो देवरो रामदेवजी भजन लिरिक्स

बाबा नीची थलवट ने ऊंचो देवरो,

दोहा – रामा कहु के रामदेव,
हिरा कहूँ के लाल,
ज्याने मिलीया रामदेव,
किया पल में निहाल।

बाबा नीची थलवट ने ऊंचो देवरो,
ए बाबा नीची थलवट ने ऊंचो देवरों,
थारी ध्वजा फरूके असमान,
सवायो लागे देवरो।।

ए बाबा धोत रे धलीया मे बनीयो देवरो,
ए बाबा धोत रे थलीया मे बनीयो देवरो,
ए थोरे आवे आवे बालक ने नर नार,
बालक ने नर नार सवायो लागे देवरो,
ए बाबा नीची थलवट ने ऊँचो देवरों।।

ए बाबा नितलख आवे थारे जातरी,
ए बाबा नितलख आवे थारे जातरी,
ए बाबा नितलख बालुडा री मार,
बालुडा री मार सवायो लागे देवरो,
ए बाबा नीची थलवट ने ऊँचो देवरों।।

ए बाबा नवलख आवे थारे जातरी,
ए बाबा नवलख बाबा रे आवे जातरी,
बाबा दसलख बालुडा री मार,
बालुडा री मार सवायो लागे देवरो,
ऐ बाबा नीची थलवट ने ऊँचो देवरों।।

ए बाबा आंधलीया आवे ओ थोरे जातरी,
ए बाबा आंधलीया आवे ओ थोरे जातरी,
बाबा आंधलो ने आँखीया दिराव,
आँखीया दिराव सवायो लागे देवरो,
ए बाबा नीची थलवट ने ऊँचो देवरों।।

ए बाबा पोन्गला आवे थोरे जातरी,
बाबा पोन्गला आवे थोरे जातरी,
बाबा पोन्गला ने पाव दिराव,
बाबा पोन्गला ने पाव दिराव,
सवायो लागे देवरो,
ए बाबा नीची थलवट ने ऊँचो देवरों।।

ए बाबा बांज्या आवे ओ थोरे जातरी,
ए बाबा बांज्या आवे ओ थोरे जातरी,
ए बाबा बांज्या रा बाबा बांज्या रा,
पालनीया बंधाय पालनीया बंधाय,
सवायो लागे देवरो,
ऐ बाबा नीची थलवट ने ऊँचो देवरों।।

ए बाबा हरजी भाटी री सुनजो विनती,
ओ बाबा हरजी भाटी री सुनजो विनती,
ए बाबा शरने आया सोरा राख,
सवायो लागे देवरो,
ऐ बाबा नीची थलवट ने ऊँचो देवरों।।

बाबा नीची थलवट ने ऊंचो देवरो,
ए बाबा नीची थलवट ने ऊंचो देवरों,
थारी ध्वजा फरूके असमान,
सवायो लागे देवरो।।

राजस्थानी भजन बाबा नीची थलवट ने ऊंचो देवरो रामदेवजी भजन लिरिक्स

Leave a Reply