बालपना में उडा दीयो बाबो हवा में घोडलीयो भजन लिरिक्स

बालपना में उडा दीयो,
बाबो हवा में घोडलीयो,
दरजी सोचे कठे गयो,
हवा में घोडलीयो,
घोडलीयो रामदेवजी रो,
घोडलीयो रामदेवजी रो।।

रंग रंगीलो कपडे वालो,
मनडे भायो घोडलो,
दरजी मन में खोट लायो,
कपडे वालो घोडलो,
रंग रंगीलो कपडे वालो,
मनडे भायो घोडलो,
दरजी मन में खोट लायो,
कपडे वालो घोडलो,
मैणादे घोडो मंगवायो,
रामा धणीया ने मन भायो,
झटपट पकड़ लगाम उडायो,
हवा में घोडलीयो,
दरजी सोचे कठे गयो,
हवा में घोडलीयो,
घोडलीयो रामदेवजी रो,
घोडलीयो रामदेवजी रो।।

लालच किनो दरजी मन में,
परचो दीनो बापजी,
जादू टोनो करके लायो,
कैद कियो अजमाल जी,
लालच किनो दरजी मन में,
परचो दीनो बापजी,
जादू टोनो करके लायो,
कैद कियो अजमाल जी,
दरजी मनडा मे घबरायो,
खोटा कर्मा पर पछतायो,
तीन लोक में घूम के आयो,
हवा में घोडलीयो,
दरजी सोचे कठे गयो,
हवा में घोडलीयो,
घोडलीयो रामदेवजी रो,
घोडलीयो रामदेवजी रो।।

गाँव रूनीचे रामदेव रो,
साचो बनीयो देवरो,
इन कलयुग रे मायने,
दीन दुखी रो आसरो,
गाँव रूनीचे रामदेव रो,
साचो बनीयो देवरो,
इन कलयुग रे मायने,
दीन दुखी रो आसरो,
बाबो है साचो अवतारी,
परचा है न्यारा हद भारी,
दास अशोक सुनावे लीला,
हवा में घोडलीयो,
दरजी सोचे कठे गयो,
हवा में घोडलीयो,
घोडलीयो रामदेवजी रो,
घोडलीयो रामदेवजी रो।।

बालपना में उडा दीयो,
बाबो हवा में घोडलीयो,
दरजी सोचे कठे गयो,
हवा में घोडलीयो,
घोडलीयो रामदेवजी रो,
घोडलीयो रामदेवजी रो।।

गायक – मोईनुद्दीन जी मनचला।
राजस्थानी भजन बालपना में उडा दीयो बाबो हवा में घोडलीयो भजन लिरिक्स
बालपना में उडा दीयो बाबो हवा में घोडलीयो भजन लिरिक्स
तर्ज – लाल दुपट्टा उड़ गया रे।

This Post Has One Comment

Leave a Reply