बिना जीव की कामनी के हुआ अचानक लड़का भजन | bina jeev ki kamani ke hua achanak ladka bhajan lyrics

आधी रे रात फिकर मे ढगी ,
होया रे पहर का तङका
बीनाजीव की कामणी के ,
होया अचानक लङका।

उस लङके का जन्म हुआ ,
तब तीन लोक गबराये।
ब्रह्मा विष्णु िवशंकर भी ,
दर्शन करने आऐ।
खबर पड़ी जब ऋषि मुनी को ,
द्वारे चल कर आऐ।
अष्टसिद्धि ओर नव नीधी भी ,
वाका मंगल गाए।
उस लड़के का जन्म हुआ जब ,
काल बली गबरायै ,
बीनाजीव की …

काम देव वाके पहरे उपर ,
चारु वीका साथी।
अश्ठवधु ओर ग्यारा रुद्र भी ,
सेवा मे तैनाती।
देव गति भी बेठ द्वार पे ,
अनहद साज बजाती।
बावन भेरू छपन कलवे ,
गाया करे था परभाती।
उस लड़के को भूख लगी तब ,
खा गया पेङ वो बङका।
बीनाजीव की …

अग्नि देवता पका रसोइया ,
भोग लगाया करता।
ईन्द्र देवता जल बरसाकर ,
चलु कराया करता।
पवन देवता पवन चला कर ,
रोज सुलाया करता।
बे माता तो बर्तन माजे ,
देके तीसण रगड़ के।
बीनाजीव की …

सब देवा मे उस लड़के का ,
देखा ठंग अजब का।
गंगा रे जमना अङशषठ तीरथ ,
फेरे धरम की माला।
चांद सुरज ओर तारा मंडल भी ,
रोज उजाला करता।
वेद शास्त्र की लिखी बतावे ,
लीखमी गाटी वाला।
उसको रे गुणया हम जानेंगे ,
भेद बताये जिनका।
बीनाजीव की …

हेमराज सैनी के भजन | rajasthani bhajan video

बिना जीव की कामनी के हुआ अचानक लड़का भजन bina jeev ki kamani ke hua achanak ladka hemraj saini bhajan हेमराज सैनी के भजन मारवाड़ी देसी भजन
भजन :- बिना जीव की कामणी के
गायक :- हेमराज सैनी

Leave a Reply