भाई लेनी गुरूजी री शरण तरण रो मौको आयो रे भजन लिरिक्स

भाई लेनी गुरूजी री शरण तरण रो मौको आयो रे भजन लिरिक्स
जुगलबंदी बण करआयो बिन नींद में कैसे सोयो || जोग भारती श्याम पालीवाल || कानपुरा लाईव 2020
Song बण करआयो बिन नींद में कैसे सोयो
Singar : जोग भारती श्याम पालीवाल
Camera Man : Montu Kumawt Shivgn
Sant Bhupesh Koselao
Editing : Sant Bhupesh Koselao
Label : आनन्द कैसेटस की भक्ति में प्रस्तुति
Sah Niemata : Sant Mohanlal Koselao
Nirmata Nirdeshan : Sant Kanhaiyalal Koselao

भाई लेनी गुरूजी री शरण,
तरण रो मौको आयो रे।

सुबीसा से मनुष्य तन पायो,
अरे अजब सोच मन मे नही लायो,
अरे अजब सोच मन मे नही लायो ए हा,
अरे बन कर आयो बिन्द नींद में,
कैसे सोयो रे,
अरे बन कर आयो बिन्द नींद में,
कैसे सोयो रे,
ए भाई लेनी गुरूजी री शरण,
तरण रो मौको आयो रे,
जिवडा लेनी गुरूजी शरण,
तरण रो मौको आयो रे।।

अरे जो जीव री मुक्ति चाहो,
अरे जो जीव री मुक्ति चाहो,
दस दोष ने दूर हटाओ,
अरे दस दोष ने दूर हटाओ ए हा,
अरे पानी पहला पाल नी बांधी,
गाफल होयो रे,
अरे पानी पहला पाल नी बांधी,
गाफल होयो रे,
ए भई लेनी गुरूजी री शरण,
तरण रो मौको आयो रे,
जिवडा लेनी गुरूजी शरण,
तरण रो मौको आयो रे।।

अरे चोरी झारी ओर जीव हत्या,
ए चोरी झारी ओर जीव हत्या,
मिन्दक मितीया ने कूडा बकीया,
मिन्दक मितीया ने कूडा बकीया ए हा,
अरे हरख शोक अभिमान दोष यु,
दस बतलायो रे,
अरे हरख शोक अभिमान दोष यु,
दस बतलायो रे,
ए भई लेनी गुरूजी री शरण,
तरण रो मौको आयो रे,
जिवडा लेनी गुरूजी शरण,
तरण रो मौको आयो रे।।

अरे राजा रावण ओर शिशुपाला,
राजा रावण ओर शिशुपाला,
जरा संध बाणासुर भारी,
जरा संध बाणासुर भारी ए हा,
अरे एडा एडा योद्धा घलीया धरती सु,
पतो न पायो रे,
अरे एडा एडा योद्धा घलीया धरती सु,
पतो न पायो रे,
ए भई लेनी गुरूजी री शरण,
तरण रो मौको आयो रे,
जिवडा लेनी गुरूजी शरण,
तरण रो मौको आयो रे।।

अरे रामानंद गुरू शत शत केवे,
रामानंद गुरू शत शत केवे,
राज गुरू जीव हेला देवे,
राज गुरू जीव हेला देवे ए हा,
अरे कहत कबीर विचार मनुष्य तन,
मुश्किल पायो रे,
अरे कहत कबीर विचार मनुष्य तन,
मुश्किल पायो रे,
ए भई लेनी गुरूजी री शरण,
तरण रो मौको आयो रे,
जिवडा लेनी गुरूजी शरण,
तरण रो मौको आयो रे।।

Watch Video song of भाई लेनी गुरूजी री शरण तरण रो मौको आयो रे भजन लिरिक्स

Leave a Reply