मंदिरिया में म्हाने नचाय लीजे श्याम भजन लिरिक्स,

सुन सुन रे म्हारा प्यारा नन्दलाला,
बागा रो मोरियो बनाय दीजे,
मंदिरिया में म्हाने नचाय लीजे,
मंदरिया में म्हाने नचाय लीजे।।

चुन चुन फुलड़ा हार बनाऊं,
सावरियां की बंसी नीली पंखा सु सजाऊं,
मोर पंख माथे पे सजाय लीजे,
मंदरिया में म्हाने नचाय लीजे।।

भर चोंच खीर पूड़ी तने मैं खिलाऊं,
सावरियां की झूठन मैं तो चुगचुग जाऊं,
झूठो पानी थारो पिलाए दीजे,
मंदरिया में म्हाने नचाय लीजे।।

पीहू पीहू करके मीठा भजन सुनाऊं,
पंख फैलाकर तने नाच के दिखाऊं,
‘केशव’ ने सेवकियो बनाय लीजे,
मंदरिया में म्हाने नचाय लीजे।।

सुन सुन रे म्हारा प्यारा नन्दलाला,
बागा रो मोरियो बनाय दीजे,
मंदिरिया में म्हाने नचाय लीजे,
मंदरिया में म्हाने नचाय लीजे।।

,

Leave a Reply