मणिहारी का भेष बनाया श्याम चूड़ी बेचने आया भजन लिरिक्स Shyam Bhajan Lyrics

मणिहारी का भेष बनाया श्याम चूड़ी बेचने आया भजन लिरिक्स | Manihari Ka Bhesh Banaya Shyam Chudi Bechne Aaya Bhajan Lyrics

मणिहारी का भेष बनाया, श्याम चूड़ी बेचने आया।
छलिया का भेष बनाया, श्याम चूड़ी बेचने आया॥

झोली कंधे धरी, उस में चूड़ी भरी।
गलिओं में चोर मचाया, श्याम चूड़ी बेचने आया॥

राधा ने सुनी, ललिता से कही।
मोहन को तरुंत बुलाया, श्याम चूड़ी बेचने आया॥

चूड़ी लाल नहीं पहनू, चूड़ी हरी नहीं पहनू।
मुझे श्याम रंग है भाया, श्याम चूड़ी बेचने आया॥

राधा पहनन लगी श्याम पहनाने लगे।
राधा ने हाथ बढाया, श्याम चूड़ी बेचने आया॥

राधे कहने लगी, तुम हो छलिया बढे।
धीरे से हाथ दबाया, श्याम चूड़ी बेचने आया ||

Kanha Ji Ke Bhajan | Krishna Bhagwan Ke Bhajan | Lyrics of Lord Krishna Bhajan Songs Youtube Video

Manihari Ka Bhesh Banaya Shyam Chudi Bechne Aaya Bhajan LyricsKrishna Bhajan Lyrics | Kanha Ke Bhajan | Mohan Ke Bhajan | Kanhaiya Ke Bhajan Lyrics | Kanha Bhajan Lyrics | Nandlala Ke Bhajan

This Post Has 2 Comments

Leave a Reply