मन करता हैं अब नाकोड़ा बस जाऊ मैं जैन भजन लिरिक्स Nakoda Bas Jau Me Bhajan Lyrics

मन करता हैं अब नाकोड़ा बस जाऊ मैं जैन भजन िरिक्स | Mann Karta Nakoda Bhairav Bhajan Lyrics | Nakoda Bhajan Lyrics | Nakoda Bheruji Bhajan Lyrics | Nakoda Bhairav Bhajan Lyrics | Bheruji Bhajan Lyrics | Nakoda Ji Ke Bhajan | Nakoda Bheru Bhajan Lyrics | Bhajan of Nakoda Bheru | Nakoda Bhairav Ke Bhajan | Nakoda Ji Bhajan hai Ab Nakoda Bas Jau Me Bhajan Lyrics

मन करता हैं अब नाकोड़ा बस जाऊ मैं,
पारस भैरू की सेवा में रम जाऊ मैं
नित उठ मेरे दादा के दर्न पाऊ मैं,
बस जाऊ मैं, रम जाऊ मैं ।।
मन करता हैं अब नाकोड़ा बस जाऊ मैं..

मैं रोज सवेरे उठके, नित फुल बगीचे जाऊ,
और ताज़े फुल मैं लेके, एक सुंदर हार बनाऊ ।
अपने हाथों से दादा को पहनाऊं मैं,
बस जाऊ मैं, रम जाऊ मैं ।।
मन करता हैं अब नाकोड़ा बस जाऊ मैं..

जल, केसर चंदन लेके, दादा की पूजा रचाऊं,
और मातर सुकड़ी लेके, भैरू को भोग लगाऊ ।
अपने हाथों से पूजा रोज रचाऊं मैं,
बस जाऊ मैं, रम जाऊ मैं ।।
मन करता हैं अब नाकोड़ा बस जाऊ मैं..

दादा की आरती गाऊं और उनके चरण दबाऊ,
कहुं अमर भक्ति भावो को, मीठे मैं भजन सुनाऊ ।
दादा को रोज रिझाने भक्ति सुनाऊ मैं,
बस जाऊ मैं, रम जाऊ मैं ।।
मन करता हैं अब नाकोड़ा बस जाऊ मैं..

Video

This Post Has One Comment

Leave a Reply