मन की तरंग मार लो, बस हो गया भजन लिरिक्स Bhajan Lyrics

मन की तरंग मार लो, बस हो गया भजन लिरिक्स | Mann Ki Tarang Mar Lo Bas Ho Gaya Bhajan Lyrics

मन की तरंग मार लो, बस हो गया भजन।
आदत बुरी संवार लो, बस हो गया भजन॥

आये हो तुम कहा से, जाओगे तुम कहाँ।
इतना ही विचार लो, बस हो गया भजन॥

कोई तुम्हे बुरा कहे, तुम सुन कर क्षमा करो।
वाणी का स्वर संभाल लो, बस हो गया भजन॥

नेकी सभी के साथ में बन जाए तो करो।
मत सर बंदी का हर लो, बस हो गया भजन॥

नजरो में तेरी दोष है, दुनिया निहारते।
समता का अंजन ढाल लो, बस हो गया भजन॥

यह महल माडिया ना तेरे साथ जायेगी।
सतगुरु की महिमा जान लो, बस हो गया भजन॥

अनमोल ब्रह्मानंद जो चाहिए सदा।

Mann Ki Tarang Mar Lo Bas Ho Gaya Bhajan Lyrics  Video

 Mann Ki Tarang Mar Lo Bas Ho Gaya Bhajan LyricsRajan Ji Maharaj Ke Bhajan | Prembhushan Ji Maharaj Ke Bhajan | Rajan Ji Maharaj Bhajan Lyrics | Prem Bhushan Ji Maharaj Bhajan Lyrics

Leave a Reply