मन मेरा सतगुरु कर मेरा भाई भजन लिरिक्स

।। दोहा ।।
सीख उणां नै देइजो, ज्यां नै सीख सुहाय।
सीख न देइजो बांदरा, घर बया को जाय।।

बिना गुरु बिना ना संगी ,
अंत समय गमाई रे ।
मन मेरा सतगुरु कर मेरा भाई ।

जद गणो कष्ट पड़ेगो तेरे ,
निर्गुण आदो आई ।
मात पिता सुत त्रिया बंधु ,
सगला मुडो छुपाई रे ।
मन मेरा सतगुरु कर मेरा भाई ।

धन दौलत महल मालिया ,
सब धरिया रह जाई।
जम रा दूत पकङ ले जावे ,
धक्का खातो जाई रे ।
मन मेरा सतगुरु कर मेरा भाई ।

राज तेज री धरी है हिमायत ,
देवो री चाले नाई ।
सतगुरु देख्यो दूर खङा ,
भाग जावे जमराई रे ।
मन मेरा सतगुरु कर मेरा भाई ।

सतगुरु वे तो बंधन सुङावे ,
निर्भय हो हरि गुण गाई।
अचलुराम चरण आसरो ,
चरण कमल चितलाई रे ।
मन मेरा सतगुरु कर मेरा भाई ।

sanwarmal saini ke bhajan video | सांवरमल सैनी के भजन

मन मेरा सतगुरु कर मेरा भाई भजन लिरिक्स man mera satguru kar mera bhai lyrics सांवरमल सैनी के भजन
सतगुरु भजन लिरिक्स इन हिंदी
भजन :- मन मेरा सतगुरु कर मेरा भाई
गायक :- सांवरमल सैनी

Leave a Reply