माँ बालक सा नाता कोई भजन लिरिक्स-Bhajan Lyrics

माँ बालक सा नाता कोई भजन लिरिक्स| Maa Balak Sa Nata Koi Bhajan Lyrics

माँ बालक सा नाता कोई जब में और कहा
कर लेती है दूर से ही अनभूति सारी माँ
बालक को जग में होती है सबसे प्यारी माँ
कर लेती है दूर से ही अनभूति सारी माँ

कितना अध्भुत है ये नाता जनम से भी पेहले बन जाता
दूर रहे बालक कितना भी माँ को अपने साथ ही पाता
शरण में हल कर देती है कठनाई सारी माँ
बालक को जग में होती है सबसे प्यारी माँ

माँ बालक सा नाता कोयी जग में और कहा
कर लेती है दूर से ही अनुभूति सारी माँ
बालक को जग में होती है सबसे प्यारी माँ

Maa Balak Sa Nata Koi Bhajan Lyrics Youtube Video

Mata Ji Ke Bhajanमाताजी  के भजनGoddess DurgaMaa Balak Sa Nata Koi Bhajan Lyrics

This Post Has 2 Comments

Leave a Reply