मारा सतगुरु ने बलिहारी भजन | mara satguru ne balihari bhajan lyrics

॥ दोहा ॥
सतगुरु मेरे सागड़ी ,भगवत सु देय मिलाय।
ज्ञान गोला बरसाय के,जम का फंद छुड़ाय।

म्हारां सतगुरु ने बलिहारी ,
बलिहारा सतगुरु ने बलिहारी।
बंधन काट किया निज मुक्ता ,
सारी विपत निवारी ॥
म्हारां सतगुरु ….

बाणी सुणत प्रेम सुख उपज्यो ,
दुरमति गई हमारी।
भरम करम का साँसा मेटिया ,
दिया कपट उगाड़ी ।
म्हारां सतगुरु ….

माया बिरम का भेद समझाया ,
सोहम लिया विचारी।
आदि पुरुष घट अंदर देखया ,
डायन दूर विडारी ॥
म्हारां सतगुरु ….

दया करी मेरा सतगुरु दाता ,
अबके लीना उबारी।
भवसागर से डूबत ताया ,
ऐसा पर उपकारी।
म्हारां सतगुरु ….

गुरु दादू के चरण कमल पर ,
मेलूँ शीश उतारी।
ओर लेय क्या आगे राखू ,
सुंदर भेंट तुम्हारी।
म्हारां सतगुरु ….

पुराने भजन लिरिक्स | gurudev bhajan video

मारा सतगुरु ने बलिहारी भजन mara satguru ne balihari satguru ki mahima gurudev bhajan पुराने भजन लिरिक्स
भजन :- म्हारां सतगुरु ने बलिहारी
गायक :- सांवर लाल टिकावडा

This Post Has One Comment

Leave a Reply