मारा सांवरिया सिरमोर बंद दरवाजा खोल भजन लिरिक्स

।। दोहा ।।
राधा तू बड़भागिनी , कौन तपस्या किन।
तीन लोक तारण तिरण , सो है तेरे आधीन।

मारा सांवरिया सिरमोर ,
थारा बंद दरवाजा खोल।
ओ माखन चोर मिश्री चोर ,
गलियन गलियन शोर।
मंडपिया वाला श्याम धनी ,
तू हसकर मुखड़े बोल।
मारा सांवरिया। …..

कलयुग में तीर्थ है मोटो ,
मारा श्याम धनी तू है मोटो।
कोई नहीं है मारो बाबा ,
ई दुनिया रे माय।
तू बतडी नैया ने तारो ,
सांवरिया जी श्याम।
मारा सांवरिया। ….

भक्ता ने लागो थे प्यारा ,
कलयुग में परचा है न्यारा।
अँधा ने आख्या देवो ,
लूला ने देवो पाँव।
मंडपिया वाला श्यामधनी ,
तू अब तो पलक खोल।
मारा सांवरिया। ….

रोता ने हसता तू किना ,
दुखिया रा दुखड़ा तू लीना।
दुखिया रा दातार ,
सांवरा मारे सामो नाळ।
भक्ता रा दातार मासु ,
एकर मुखड़े बोल।
मारा सांवरिया। ….

भक्ता रे कारण तू आवे ,
सूरत रे थारी मन भावे।
भक्त करी है अरज विनती ,
थारा चरणा माय।
भक्ता रा दातार मासु ,
एकर मुखड़े बोल।
मारा सांवरिया। ….

मारा सांवरिया सिरमोर ,
थारा बंद दरवाजा खोल।
ओ माखन चोर मिश्री चोर ,
गलियन गलियन शोर।
मंडपिया वाला श्याम धनी ,
तू हसकर मुखड़े बोल।
मारा सांवरिया। …..

मारा सांवरिया सिरमोर बंद दरवाजा खोल भजन लिरिक्स mara sawariya sirmour lyrics tara bandh darwaza khol sanwariya seth ka bhajan

Leave a Reply