मिठो छोड़ दे सांवरिया लाड़ू महंगा हो गया रे भजन लिरिक्स

मिठो छोड़ दे सांवरिया,
लाड़ू महंगा हो गया रे,
महंगा हो गया, महंगा हो गया,
महंगा हो गया, महंगा हो गया,
महंगा हो गया रे,
मिठो छोड़ दे साँवरिया,
लाड़ू महंगा हो गया रे।।

तेरे से के हाल छिप्यो है,
बाबा ई महंगाई को,
देसी घी चीनी का भाव तो,
देसी घी चीनी का भाव तो,
दुगना हो गया रे,
मिठो छोड़ दे,
मिठो छोड़ दे साँवरिया,
लाड़ू महंगा हो गया रे।।

डॉक्टर वैद्य परहेज बतावे,
ईब तो बाबा मीठा को,
जो ना माने बिका शुगर,
जो ना माने बिका शुगर,
बीपी बढ़ जा रे,
मिठो छोड़ दे,
मिठो छोड़ दे साँवरिया,
लाड़ू महंगा हो गया रे।।

और घणा पकवान है बाबा,
तेरे भोग लगावण का,
दाल कचौड़ी दही बड़ा भी,
दाल कचौड़ी दही बड़ा भी,
लागे चोखा रे,
मिठो छोड़ दे,
मिठो छोड़ दे साँवरिया,
लाड़ू महंगा हो गया रे।।

शोक है मिठो खावण को तो,
रस्तो इसो बिठा दे तू,
आमदनी तेरे भक्तां की,
आमदनी तेरे भक्तां की,
दुगनी हो जा रे,
मिठो छोड़ दे,
मिठो छोड़ दे साँवरिया,
लाड़ू महंगा हो गया रे।।

मिठो छोड़ दे सांवरिया,
लाड़ू महंगा हो गया रे,
महंगा हो गया, महंगा हो गया,
महंगा हो गया, महंगा हो गया,
महंगा हो गया रे,
मिठो छोड़ दे साँवरिया,
लाड़ू महंगा हो गया रे।।

Leave a Reply