मुक्ति का कोई तूँ जतन करले रे, रोज थोडा थोडा हरि का भजन करले भजन लिरिक्स Mukti Ka Bhajan Lyrics

मुक्ति का कोई तूँ जतन करले रे, रोज थोडा थोडा हरि का भजन करले भजन लिरिक्स | Mukti Ka Koi Tu Jatan Kar Le, Roj Thoda Thoda Hari Ka Bhajan Karle Bhajan Lyrics

मुक्ति का कोई तूँ जतन करले रे,
रोज थोड़ा थोड़ा हरी का भजन करले ।
मुक्ति का कोई तूँ …

भक्ति करेगा तो बड़ा ही सुख पाएगा,
भक्ति से आत्मा का मैल छूट जाएगा ।
आत्मा के साथ साथ मन करले रे,
रोज थोड़ा थोड़ा हरी का भजन करले ॥
मुक्ति का कोई तूँ …

संगत कर अच्छे लोगों की,
दवा मिल जाएगी सभी रोगों की ।
ज़िंदगी को अपनी चमन करले रे,
रोज थोड़ा थोड़ा हरी का भजन करले ॥
मुक्ति का कोई तूँ …

mukti ka koi tu yatan kar le roj thoda thoda hari ka bhajan karle Youtube Video

mukti ka koi tu yatan kar le roj thoda thoda hari ka bhajan karle

This Post Has 5 Comments

Leave a Reply