में सब देवा ने छोड़ भजन लिरिक्स

।। दोहा ।।
हरजी ने हरी मिल्या , आडे मारग आय ।
पूजण ने घोड़ो दियो , दूध पिवण ने गाय ।।

म्हें तो सब देवां ने छोड़ ,
राम सा ने ध्यावां ।
म्हारे मन रे तंदूरे ,
पर थारी वाणी गावां ।
खम्मा घणी ,
अजमाल जी रा लाल ने । २

आंधलियाँ ने आँख्यां देवो ,
पांगलियाँ ने पाँव जी ।
निर्धनियाँ ने धन देवो ,
धिन हो रामापीर जी ।
म्हें तो सारा जग ने छोड़ ,
थारे शरणे आवां ।।
म्हें तो सब देवां। ….

अगर चनण रो बण्यो देवरो ,
धोखे लोग लुगाई जी ।
धोळीध जा फरूखे बाबा रे ,
मिनखां री सकलाई जी ।
थारे मिन्दर में झालर बाजे ,
म्हें सुख पावां ।।
म्हें तो सब देवां। ….

जब – जब भीड़ पड़ी भगतां पर ,
थेही लाज बचाई जी ।
बड़ा – बड़ा री थारे आगे ,
भूल हुई चतुराई जी ।
मेणांदे रा कंवर ,
थारा म्हें यश गावां ।।
म्हें तो सब देवां। ….

भेद भाव रो भरम मिटायो ,
नयो धरम दिखायो जी ।
अण्जाणी दुनियाँ ने साँचो ,
आतम ज्ञान सुणायो जी ।
सुगणांबाई रा बीर ,
थारां म्हें गुणगावां ।।
म्हें तो सब देवां। ….

में सब देवा ने छोड़, me to sab deva ne chod ramsa lyrics, baba ramdev ji bhajan, marwadi bhajan desi

Leave a Reply